--Advertisement--

टैक्सटाइल मिल ने गलत तरीके से 10 करोड़ रु. का लिया लाभ

जयपुर | एसडीआरआई ने पाली स्थित एक प्रमुख वस्त्र निर्माता के व्यवसाय स्थल की जांच में लगभग दस करोड़ रुपए की राशि का...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:25 AM IST
जयपुर | एसडीआरआई ने पाली स्थित एक प्रमुख वस्त्र निर्माता के व्यवसाय स्थल की जांच में लगभग दस करोड़ रुपए की राशि का नियम विरुद्ध आईटीसी का लाभ लिए जाने का खुलासा किया है। दरअसल विभाग को इस मामले में गुप्त सूचना मिली थी। पड़ताल में इस गड़बड़ी का खुलासा हुआ है। जांच में पाया गया कि व्यापारी की मील मे वर्ष 2012-13 मे आग लगने से लगभग 10 करोड़ का रॉ मटेरियल जल गया था। मील द्वारा इस नुकसान की भरपाई इंश्योरेंस कंपनी से क्लेम प्राप्त कर कर ली गई। इसके साथ ही मिल द्वारा इस राशि पर अविधिक रूप से आईटीसी का लाभ भी प्राप्त कर लिया। नियमानुसार वैट अधिनियम के तहत रॉ मटेरियल की खरीद पर आईटीसी का लाभ उसी स्थित मे देय होता है जब उस माल से कोई कर योग्य माल का निर्माण किया जाए, लेकिन टैक्सटाइल मिल का उपर्युक्त राशि का माल नष्ट हो जाने से कोई नया निर्माण तो हुआ नहीं एवं बीमा कंपनी से नुकसान की भरपाई भी कर ली ओर सरकार से आईटीसी का लाभ भी प्राप्त कर लिया।