जयपुर

--Advertisement--

मैरिज गार्डन संचालकों ने यूडी टैक्स भी जमा नहीं कराया

नगर निगम की ओर से शहर के विवाह स्थलों पर यूडी टैक्स और लाइसेंस नवीनीकरण शुल्क बढ़ाने के विरोध में विवाहस्थल...

Danik Bhaskar

Apr 01, 2018, 03:25 AM IST
नगर निगम की ओर से शहर के विवाह स्थलों पर यूडी टैक्स और लाइसेंस नवीनीकरण शुल्क बढ़ाने के विरोध में विवाहस्थल संचालकों ने यूडी टैक्स जमा नहीं करवाया। इस वर्ष 31 मार्च तक यूडी टैक्स जमा करवाने की अंतिम तिथि थी।

जयपुर विवाह स्थल समिति के अध्यक्ष मोहनलाल अग्रवाल और महामंत्री भवानीशंकर माली ने नगर निगम प्रशासन को चेतावनी दी है कि बढ़ाया गया शुल्क वापस नहीं लिया गया तो विवाह स्थल संचालक यूडी टैक्स जमा नहीं करवाएंगे। नगर निगम क्षेत्र में करीब 750 विवाह स्थल है और इनका करीब पांच करोड़ रुपए से अधिक यूडी टैक्स जमा होता है।

महामंत्री भवानीशंकर माली ने बताया कि विवाह स्थल संचालकों पर यूडी टैक्स और लाइसेंस नवीनीकरण शुल्क बढ़ाये जाने से विवाह स्थल संचालकों पर तीन गुणा अतिरिक्त वित्तीय भार बढ़ गया। संचालक यह भार बुकिंग करवाने वालों पर डालेंगे जिससे आमजन ही परेशान होगा। महामंत्री माली ने कहा कि नगर निगम प्रशासन विवाह स्थलों से सालाना सफाई के नाम पर 30 हजार रु. वसूल रहा है, लेकिन सफाई की कोई व्यवस्था नहीं की जाती।

750

विवाह स्थल हंै शहर में

05

करोड़ रु. यूडी टैक्स हर साल जमा होता है

Click to listen..