Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» समर्थन मूल्य बढ़ा तो हर क्विंटल पर Rs.3500 तक ज्यादा मिलेंगे

समर्थन मूल्य बढ़ा तो हर क्विंटल पर Rs.3500 तक ज्यादा मिलेंगे

जयपुर। आम बजट राजस्थान के किसानों, पशुपालकों और आदिवासी छात्रों की उम्मीदों को उड़ान देने वाला है। कृषि का समर्थन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 03:55 AM IST

जयपुर। आम बजट राजस्थान के किसानों, पशुपालकों और आदिवासी छात्रों की उम्मीदों को उड़ान देने वाला है। कृषि का समर्थन मूल्य लागत का डेढ़ गुना किए जाने का डेढ़ करोड़ किसानों को फायदा होगा। एक करोड़ पशुपालकों को क्रेडिट कार्ड मिलने से प्रदेश का 1.33 करोड़ पशुधन बचेगा। अनुसूचित जनजाति बहुल 44 ब्लॉक में एकलव्य विद्यालय खुलने से आदिवासी छात्रों को बेहतर शिक्षा मिलेगी

राज्य के डेढ़ करोड़ किसानों को फायदा, सबसे ज्यादा लाभ होगा मूंग-उड़द पर

खरीफ की फसल का समर्थन मूल्य लागत का डेढ़ गुना किए जाने का राजस्थान के डेढ़ करोड़ किसानों को फायदा मिलेगा। हालांकि, राज्य की मुख्य खरीफ फसल बाजरा और मूंगफली पर लागत मूल्य का डेढ़ गुना किए जाने पर ज्यादा फायदा नहीं होगा। बाजरे पर लागत का डेढ़ गुना किए जाने पर 309 रुपए और मूंगफली पर 458 रुपए प्रति क्विंटल का ही लाभ मिलेगा। इसका सर्वाधिक लाभ मंूग और उड़द जैसी फैसलों पर होगा। लागत मूल्य का डेढ़ गुना होने से मूंग का समर्थन मूल्य 8680 और उड़द का समर्थन मूल्य 8640 रुपए प्रति क्विंटल हो जाएगा। कृषि लागत एवं मूल्य आयोग ने मूंग का लागत मूल्य 5787 रुपए प्रति क्विंटल घोषित कर रखा है। इसका डेढ़ गुना किए जाने पर यह 8680 रुपए हो जाएगा। इसी तरह उड़द का लागत मूल्य 5760 रुपए निर्धारित है जो डेढ़ गुना होने पर 8640 रुपए प्रति क्विंटल हो जाएगा।

यूं समझिए फसलों से फायदे का गणित

फसल स.मू. 16-17 लागत मूल्य डेड़ गुना होने पर फायदा

बाजरा 1425 1156 1734 309

मक्का 1425 1946 2919 1494

सोयाबीन 3050 3119 4678 1628

ज्वार 1625 1542 2313 618

मूंग 5225 5787 8680 3455

उड़द 5000 5760 8640 3640

मूंगफली 4220 3552 4678 458

कपास 3860 3440 5160 1300

वित्त मंत्री ने कहा कि हमने रबी की फसल का समर्थन मूल्य लागत का डेढ़ गुना कर दिया, जो हकीकत में नहीं हुआ है। खरीफ में भी यदि ऐसा ही होता है, तो यह किसानों के साथ धोखा ही होगा। पशुपालकों के लिए क्रेडिट कार्ड स्कीम का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि अब उन्हें लोन मिलने लग जाएगा।

-नेसार अहमद, प्रदेश समन्वयक, बार्क

फैक्ट चैक

क्रेडिट कार्ड सुविधा से 1 करोड़ परिवारों को राहत

केंद्रीय बजट में हुई घोषणा के बाद राजस्थान के करीब एक करोड़ पशु़पालक परिवारों को क्रेडिट कार्ड सुविधा का लाभ मिल सकेगा। ये परिवार प्रदेशभर में करीब 133.24 लाख पशुओं को पाल रहे हैं। प्रदेश के पशुपालन विभाग का मानना है कि सुविधा की गाइड लाइन आने के बाद इस बारे में पुख्ता तौर पर सबकुछ स्पष्ट हो पाएगा। विभाग के एडिशनल डायरेक्टर आनंद सेजरा का कहना है- फिलहाल करीब एक करोड़ पशुपालक परिवार प्रदेश में हैं। इन परिवारों के पास 129.78 लाख भैंस, 216.66 लाख बकरी, 3.36 लाख ऊंट, 90.8 लाख भेड़ सहित अन्य पशु हैं। क्रेडिट कार्ड सुविधा का लाभ मिलने से इन परिवारों के लिए पशु खरीदना, उनके लिए खाद्यान्न उपलब्ध करना आसान हो जाएगा। इसके लिए हर परिवार की आय स्त्रोत के आधार पर लिमिट तय की जाएगी।

44 एकलव्य स्कूल खुल सकेंगे

आंकड़े रुपए प्रति क्विंटल में

जनजातीय विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए एकलव्य स्कूल खोले जाएंगे। यह स्कूल ऐसे ब्लॉक में खुलेंगे जहां अनुसूचित जनजाति की आबादी 50% से अधिक है और आदिवासियों की आबादी 20 हजार से अधिक है। प्रदेश में करीब 44 ब्लॉक ऐसे हैं जो केंद्र के इन मापदंडों को पूरा कर सकते हैं। ऐसे में यहां वर्ष 2022 तक 44 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय खुलने की संभावना है। इन्हें नवोदय विद्यालय की तर्ज पर खोला जाएगा। यहां खेलकूद और कौशल विकास का प्रशिक्षण मिलेगा। साथ ही स्थानीय कला और संस्कृति की जानकारी भी दी जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×