Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» श्रीजी की रथयात्रा में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

श्रीजी की रथयात्रा में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

यात्रा में सबसे आगे निशान का घोड़ा, उसके बाद स्वर लहरियां बिखेरते 3 बैंड थे। 21 केसरिया ध्वज रथयात्रा को विशिष्ट...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 04:40 AM IST

यात्रा में सबसे आगे निशान का घोड़ा, उसके बाद स्वर लहरियां बिखेरते 3 बैंड थे। 21 केसरिया ध्वज रथयात्रा को विशिष्ट स्वरूप दे रहे थे। विभिन्न संस्थाओं के बडी संख्या में शामिल सदस्यगण जयकारे लगाते हुए भक्तिमय माहौल बना रहे थे। उसके पीछे धर्मचक्र और फिर जैन मूल संघ आमनाय भट्टारकजी की पालकी को उठाए श्रद्धालु चल रहे थे। पालकी के पीछे विशालकाय ऐरावत हाथी लोगों का मनमोह रहा था। रथयात्रा को मीणा जाति के लोग नाचते कूदते गंभीर नदी के तट पर ले गए। गंभीर नदी के तट पर रथयात्रा धर्मसभा में परिवर्तित हो गई। यहां श्रीजी की अष्टद्रव्यों से संगीतमय पूजा अर्चना के बाद जयकारों के बीच भगवान के कलशाभिषेक किए गए। शाम को नदी तट पर हुई घुड़दौड़ व ऊंट दौड़ का भी ग्रामीणों ने आनंद लिया।

मुख्य मंदिर में सर्वप्रथम महावीर भगवान की प्रतिमा का अभिषेक हुआ। इसके बाद केसरिया वस्त्र पहने, रजत मुकुट लगाए व इंद्रों का रूप धारण किए श्रद्धालुओं ने प्रतिमा को मंदिरजी से पालकी में लाकर बाहर पांडाल में स्वर्णिम आभा से सुसज्जित विशाल यंत्रचाल ित नवीन रथ में विराजमान किया। इससे पहले सुबह यंत्रचालित नवीन रथ की मंत्रोच्चार के साथ शुद्धि व पूजा की गई। रवानगी से पूर्व प्रबंधकारिणी कमेटी ने मूलनायक भगवान महावीर स्वामी की मूर्ति निकालने वाले चर्मकार वंशज के प्रतिनिधि का सम्मान किया गया। मुनि चिन्मयानंद महाराज व मुनि युधिष्ठिर सागर महाराज के सानिध्य में रथयात्रा का शुभारंभ हुआ।

ये हस्तियां रहीं मौजूद

शोभायात्रा में उपजिला कलेक्टर, हिंडौन शेरसिंह लुहाड़िया, प्रबंधकारिणी कमेटी के अध्यक्ष सुधांशु कासलीवाल, उपाध्यक्ष नरेंद्र पाटनी, शांति पाटनी, मानद मंत्री महेंद्र पाटनी, कोषाध्यक्ष विवेक काला, प्रबंधकारिणी समिति के पदाधिकारी व सदस्य, राजनेता, प्रशासनिक अधिकारी, दिगंबर जैन सोशल ग्रुपों के सदस्य व देशभर के हजारों जयकारे लगाते चल रहे थे।

8 दिवसीय मेले का समापन समारोह आज

प्रबंधकारिणी कमेटी के अध्यक्ष सुधांशु कासलीवाल और मानद मंत्री महेंद्र कुमार पाटनी ने बताया कि आठ दिवसीय महावीरजी के वार्षिक लक्खी मेले का समापन सोमवार दोपहर दो बजे नदी तट पर ग्रामीण खेलकूद व कुश्ती दंगल की प्रतियोगिता के साथ होगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×