• Home
  • Rajasthan News
  • Jaipur News
  • News
  • कार्यक्रम में सांसद को नहीं बुलाया तो 2 गुटों में बंटे भाजपा कार्यकर्ता
--Advertisement--

कार्यक्रम में सांसद को नहीं बुलाया तो 2 गुटों में बंटे भाजपा कार्यकर्ता

जयपुर| ढेहर का बालाजी पेयजल स्कीम के रविवार को हुए शिलान्यास समारोह में सांसद को नहीं बुलाने पर भाजपा कार्यकर्ता...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 04:50 AM IST
जयपुर| ढेहर का बालाजी पेयजल स्कीम के रविवार को हुए शिलान्यास समारोह में सांसद को नहीं बुलाने पर भाजपा कार्यकर्ता दो गुटों में बंट गए। पार्षद व एक गुट ने जलदाय इंजीनियरों की जलदाय मंत्री से शिकायत करने की बात कही है। शिलान्यास पट्टिका पर भी पार्षद का नाम नहीं लिखे जाने पर कार्यकर्ताओं ने आक्रोश जताया। पेयजल स्कीम में 3.30 करोड़ खर्च कर टंकी व पाइपलाइन बनेगी। हालांकि, टंकी की जगह पर स्थानीय लोगों ने कोर्ट से स्टे ले रखा है, इसके बाद भी वर्क ऑर्डर दे दिया गया है।

सीकर रोड, ढेहर का बालाजी व तीन दुकान क्षेत्र में पेयजल सप्लाई में सुधार के लिए साढ़े 12 लाख लीटर की टंकी बनाई जा रही है। विभाग ने रविवार को शिलान्यास समारोह रखा था। पट्टिका पर मंत्री व विधायक का नाम था। समारोह में मंत्री नहीं आए। समारोह के दौरान ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने सांसद को नहीं बुलाए जाने पर विरोध दर्ज करवाया। पार्षद के समर्थकों ने भी पट्टिका नाम नहीं होने पर दूसरे कार्यकर्ताओं पर गुटबाजी का आरोप लगाया। पार्षद भगवत सिंह देवल का कहना है कि एक्सईएन अजयसिंह राठौड़ ने जानबूझकर सांसद को नहीं बुलाया। उन्होंने कहा कि इस मामले की मंत्री से शिकायत की जाएगी। इधर, सांसद रामचरण बोहरा का कहना है कि ढेहर का बालाजी क्षेत्र में पेयजल स्कीम के शिलान्यास की उन्हें कोई जानकारी ही नहीं दी गई। विद्याधरनगर विधायक नरपत सिंह राजवी का कहना है कि मंत्री व सांसद से बात हुई थी, वे बाहर थे, इसलिए नहीं आ सके। शिलान्यास पट्टिका पर कभी भी पार्षद का नाम नहीं लिखा जाता है।

जमीन पर 5 साल से स्टे, विभाग ने दिया वर्क ऑर्डर :

विवादित जमीन पर टंकी बनाने के लिए पीडब्ल्यूडी ने जलदाय विभाग को एनओसी दी है। गोविंद शर्मा बनाम सरकार के केस में 2013 से स्टे चल रहा है। इसके बावजूद चुनावी माहौल बनाने के लिए विभाग ने ठेकेदार को वर्कऑर्डर जारी कर दिया। लोगों ने पूरे प्रकरण की जांच करवाने की मांग की है।

ढेहर का बालाजी पेयजल स्कीम : जमीन पर स्टे और 3.30 करोड़ से बनेगी टंकी व पाइपलाइन