--Advertisement--

बहरावंडा खुर्द में एक दिन बाद विशेष परम्परा के साथ धुलंडी मनाई

बहरावंडा खुर्द|खंडार क्षेत्र के लगभग सभी गांवों में शुक्रवार को धुलंडी का त्योहार मनाया गया। वही कस्बे में विशेष...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 03:20 AM IST
बहरावंडा खुर्द में एक दिन बाद विशेष परम्परा के साथ धुलंडी मनाई
बहरावंडा खुर्द|खंडार क्षेत्र के लगभग सभी गांवों में शुक्रवार को धुलंडी का त्योहार मनाया गया। वही कस्बे में विशेष परम्परा के कारण एक दिन बाद शनिवार को धुलंडी का त्योहार भाईचारे के साथ मनाया गया।

शनिवार को प्रातः काल से ही मंदिरों में भजन कीर्तन करते हुए प्रभात फेरी के रूप में कस्बे के खारा कुआं के प्रांगण में एकत्रित होकर नाळ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमे खंडार क्षेत्र के विभिन्न गांवों के पहलवानों ने नाळ प्रतियोगिता में कशमकश की। रामसिंह गुर्जर ने 85 किग्रा वर्ग में 85 किग्रा की नाळ उठाकर प्रथम स्थान प्राप्त किया। नाळ प्रतियोगिता में प्रथम आने वाले पहलवानों को ग्राम पंचायत की ओर से साफा पहनाकर सम्मानित किया गया। इसी बीच गांव के कॉलोनी मोहल्लों में अबीर गुलाल से एक दूसरे को होली की शुभकामनाएं दी। वहीं बाजों की धुन में लोग थिरक उठे।

गोविन्द देवजी के मंदिर में घोटी भांग, मदमस्त होकर फोड़ा ढोल: नाळ प्रतियोगिता के बाद दोपहर को गोविन्द देवजी के मंदिर में भांग घोटी गयी। वहीं युवकों ने भांग में मदमस्त होकर रामकल्याण जी के मंदिर में ढोल फोड़ने का कार्यक्रम किया गया। युवकों ने झंड़ा तोड़ा, महिलाओं ने बरसाए डंडे: ढोल की रस्म के बाद से ही कस्बे सहित अन्य गांवों के स्त्री पुरुषों का जमावड़ा कस्बे के न्यू कॉलोनी दशहरा मैदान में होने लगा। वहीं दोपहर के बाद ही ग्राम पंचायत की ओर से इमली के पेड़ की बड़ी टहनी को मैदान में गाड़ कर कृत्रिम पेड़ लगा दिया गया। युवक भी दोपहरी से ही झंडा तोड़ने के लिए मैदान के समीप बैठकर झंडा तोड़ने के लिए चर्चा करते रहे। दिन ढलने पर शाम के समय भारी संख्या में महिलाएं पुरुष मैदान में एकत्रित हो गए।

बहरावंडा खुर्द. कस्बे में झंडा तोड़ने के लिए कृत्रिम पेड़ चढ़े हुए युवक और उन पर झंडे बरसाती महिलाऐं।

X
बहरावंडा खुर्द में एक दिन बाद विशेष परम्परा के साथ धुलंडी मनाई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..