Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» सरपंच-सचिव आए नहीं, गुस्साएं लोगों ने पंचायत कार्यालय पर जड़ा ताला

सरपंच-सचिव आए नहीं, गुस्साएं लोगों ने पंचायत कार्यालय पर जड़ा ताला

ढाणी गैसकान ग्राम पंचायत में गुरुवार को गाैरवपथ की राह में बाधक बने अतिक्रमण को हटाने आया प्रशासनिक अमला बगैर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 07:50 AM IST

ढाणी गैसकान ग्राम पंचायत में गुरुवार को गाैरवपथ की राह में बाधक बने अतिक्रमण को हटाने आया प्रशासनिक अमला बगैर कार्रवाई के ही बैरंग लौट गया। सरपंच व सचिव की गैर मौजूदगी के कारण कार्रवाई नहीं हो सकी। मामले को लेकर गुस्साएं ग्रामीणों ने पंचायत मुख्यालय पर ताला जड़ दिया। हालांकि प्रशासनिक अमले ने खुद हटाए गए अितक्रमण के एक स्थान की सफाई कराई।

घटनाक्रम के अनुसार ढाणी गैसकान के मुख्य मार्ग से होते हुए गौरवपथ बनना स्वीकृत है। गौरवपथ में कुछ स्थानों को छोड़कर बाकी सबने अपना कच्चा-पक्का निर्माण हटा लिया। ग्रामीणों ने एसडीएम विराटनगर को अवगत करवाते हुए बचे हुए अतिक्रमण को भी हटवाने की मांग की। एसडीएम के निर्देश पर गुरुवार को नायब तहसीलदार राेहिताश पारीक, गिरदावर हरचंद रैगर, पटवारी अमरचंद मीणा, बागावास अहिरान चौकी प्रभारी औंकार, कांस्टेबल विनोद मय जाब्ते मौके पर पहुंचे। पटवारी-गिरदावर ने नापजोख भी कर दी। मौके पर अतिक्रमण हटाने के लिए जेसीबी भी मंगवा ली गई, लेकिन सरपंच व सचिव के नहीं आने से कार्रवाई आगे नहीं बढ़ सकी। नायब तहसीलदार ने सचिव से फोन पर संपर्क किया, जिस पर उन्होंने अन्यत्र होने की बात कही। करीब एक घंटे तक इंतजार के बाद प्रशासन बगैर कार्रवाई के ही बैरंग लौट गया। मामले को लेकर गुस्साए लोगों ने पंचायत मुख्यालय पर ताला जड़ दिया।

आम रास्ते की सफाई करती जेसीबी

60 में से 52 अतिक्रमणकारियों ने स्वयं हटाए अतिक्रमण

पंचायत प्रशासन ने आम रास्ते में करीब 60 स्थानों को अतिक्रमण होना चिह्नित किया था। पंचायत नोटिस के बाद 52 लोगाें ने तो अतिक्रमण हटा लिए। कुछ लोगों के अतिक्रमण अभी भी बाकी है, जिस पर प्रशासन कार्रवाई करने पहुंचा था।

प्रशासन के आने की सूचना नहीं थी

तहसीलदार द्वारा बुधवार को अतिक्रमण हटाने के लिए संसाधन उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए गए थे। बुधवार को प्रशासन नहीं पहुंचा। गुरुवार को प्रशासन के आने की पूर्व में कोई सूचना नहीं थी। भवानी शंकर यादव, सरपंच ढाणी गैसकान

मैं तो ग्रामीणोंे की सूचना पर व्यवस्था देखने गया था

राजस्व कर्मचारियों के बुधवार को प्रशिक्षण में जाने के कारण मौके पर नहीं आ सके। बुधवार को कार्रवाई के लिए सचिव को निर्देशित कर दिया गया था। इस मामले के बारे में विकास अधिकारी को अवगत करवा दिया गया है। गुरुवार को ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर अमला लेकर पहुंचे थे। आबादी भूमि पर अतिक्रमण हटाने का काम पंचायत प्रशासन का है। मैंने तो कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मौका मुआयना किया। रोहिताश पारीक, नायब तहसीलदार विराटनगर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×