Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Talk On Doctors Movement

3 महीने से चल रहा डॉक्टर्स का आंदोलन, रविवार रात 11:50 बजे बनी सहमति

3 मांगों को लेकर पिछले तीन माह से आंदोलन कर रहे डॉक्टरों और सरकार के बीच रात 11:50 बजे सहमति बन गई।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 06, 2017, 08:52 AM IST

3 महीने से चल रहा डॉक्टर्स का आंदोलन, रविवार रात 11:50 बजे बनी सहमति
जयपुर. 33 मांगों को लेकर पिछले तीन माह से आंदोलन कर रहे डॉक्टरों और सरकार के बीच रात 11:50 बजे सहमति बन गई। इसी के साथ डॉक्टरों ने काम पर बने रहने का फैसला किया है। गौरतलब है कि 8,911 सेवारत डॉक्टरों ने शनिवार रात सामूहिक इस्तीफे सौंप दिए थे। पूरे दिन चले नाटकीय घटनाक्रम के बाद सरकार के उच्च स्तर पर हस्तक्षेप हुआ और चिकित्सा मंत्री सहित विभाग के आला अधिकारी मामले को सुलझाने में लगे रहे। सरकार ने डॉक्टर्स के प्रमुख छह बिंदुओं पर चर्चा कर सहमति जता दी। इसके बाद डॉक्टर्स ने इस्तीफे वापस लेने और सोमवार से नियमित रूप से काम पर लौटने का निर्णय किया, लेकिन डॉक्टर्स ने डीएसीपी जैसे मामलों में 30 नवम्बर तक मांगों को मानने की चेतावनी दी है। कहा है कि यदि इस तारीख तक मांगें नहीं मानी गईं तो दोबारा आंदोलन किया जाएगा।
सुलह की पूरी कहानी : दिनभर ड्रामा, देर रात तक वार्ता
पहली बैठक : बेनतीजा
शाम 4 बजे से 6 बजे तक
चिकित्सा मंत्री के घर डॉक्टरों से मीटिंग शुरू हुई। वार्ता बेनतीजा रही।
दूसरी बैठक : मांगों पर विचार
- रात 8 बजे से 10:30 बजे तक
चिकित्सा मंत्री व विभाग के उच्च अधिकारियों ने मांगों पर विचार किया।
...और बन गई बात
- रात 10:45 बजे पर सेवारत डॉक्टरों का एक प्रतिनिधिमंडल बुलाया गया। वार्ता हुई और रात करीब 11:50 पर सहमति बन गई। वार्ता में डॉ. नरोत्तम शर्मा व डॉ. जगदीश मोदी शामिल थे।
मांगें यूं मानी जाएंगी
- सबसे बड़ा झगड़ा चिकित्सा विभाग में सीनियर पदों पर लगे आरएएस का था। सरकार ने कहा है- इन्हें हटाया जाएगा। सीनियर डॉक्टरों को ही इन पदों पर लगाएंगे। गौरतलब है कि आधा दर्जन से अधिक निदेशालयों मेंं सरकार ने आरएएस अफसर लगा रखे हैं। इसमें समाज कल्याण निदेशालय, खान निदेशालय, डीएलबी, पंचायतीराज सहित विभिन्न निदेशालय में अतिरिक्त निदेशक के पद पर आरएएस की ही पोस्टिंग है।
- सरकार ने कहा है कि डीएसीपी का लाभ दिए जाने, कैडर समान करने और ग्रेड पे बढ़ाने जैसी मांगों पर जल्दी ही अमल किया जाएगा।
चिकित्सा मंत्री बोले : मांगों को जल्द पूरा करेंगे
सरकार मरीजों के प्रति बहुत ही गंभीर है और किसी भी स्तर पर उन्हें परेशान नहीं होने देगी। सेवारत चिकित्सकों से वार्ता हो गई है। वे सोमवार से नियमित रूप से काम पर लौटेंगे। उनकी जो भी मांगें हैं, उन्हें जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा।
-कालीचरण सराफ, चिकित्सा मंत्री।
डॉक्टर बोले : सरकार को अल्टीमेटम दिया है
सरकार के साथ अधिकांश मांगों पर सहमति बन गई है। हम सोमवार से नियमित रूप से काम पर लौटेंगे। डीएसीपी जैसे मामलों के लिए 30 नवम्बर और कैडर समान करने जैसी मांगों को लेकर 31 दिसम्बर तक का समय सरकार को दिया गया है। यदि ये मांगें नहीं मानी गईं तो सेवारत डॉक्टरों को फिर से आंदोलन की राह पर जाना पड़ेगा।
-डॉ. राकेश हीरावत, प्रदेश संगठन महामंत्री, अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×