खाकी का खेल / पहले फाइल बंद की; विधानसभा में मामला उठा, तब 60 व्यापारियों से 10 करोड़ ठगने वाले को दबोचा



पुलिस हिरासत में आरोपी। पुलिस हिरासत में आरोपी।
X
पुलिस हिरासत में आरोपी।पुलिस हिरासत में आरोपी।

  • परचूनी का सामान खरीदने के बहाने राजस्थान, गुजरात और दिल्ली के करीब 60 व्यापारियों से की ठगी

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2019, 01:29 AM IST

जयपुर. परचूनी का सामान खरीदने के बहाने राजस्थान, गुजरात और दिल्ली के करीब 60 व्यापारियों से 10 करोड़ से ज्यादा ठगने का आरोपी गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी सुरेश तिवाड़ी मूलत: अजमेर के अराई का है। झोटवाड़ा में निवारू रोड महेशपुरी कॉलोनी में किराये पर रहता है।

 

कोर्ट ने उसे एक दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा है। आरोपी की गिरफ्तारी की सूचना फैलते ही अलग-अलग राज्यों के 20 पीड़ित व्यापारी कलेक्ट्रट स्थित डीसीपी ऑफिस पहुंच गए। इस केस में पहले एफआर लग गई थी। सदन में मामला उठने के बाद पकड़ा गया।

 

लापरवाही देखिए...2 साल पहले हुआ था केस

आरोपी सुरेश तिवाड़ी के खिलाफ 90 लाख की ठगी का पहला मामला निवारू रोड निवासी सुरेन्द्र अग्रवाल ने मई 2017 में झोटवाड़ा थाने में दर्ज करवाया। इसमें दो जांच अधिकारी बदलने के बाद जांच थानाधिकारी प्रदीप चारण के पास पहुंच गई थी। तब पूछताछ के लिए आरोपी को पुलिस थाने ले आई थी।

 

लेकिन, देर रात वापस छोड़ दिया और दो दिन बाद सिविल नेचर मानते हुए एफआर लगा दी। उसके बाद पीड़ित सीएमओ, डीजीपी व कमिश्नर के पास पेश हुआ तो मामले को रिओपन करके जांच एडीशनल डीसीपी को दी गई। 21 जनवरी 2019 को एडिशनल डीसीपी ने जुर्म प्रमाणित मानकर आरोपी को गिरफ्तार करने के आदेश देकर फाइल थाने भेज दी। लेकिन आरोपी अब गिरफ्तार हुआ है। सिरोही विधायक संयम लोढ़ा ने इस मामले को जाेर-शोर से विधानसभा में उठाया था।

 

ऐसे पकड़ा... नए बैंक खातों से मिला नंबर

आरोपी ने नए बैंक खाते खुलवा लिए थे। झोटवाड़ा थाने के कांस्टेबल सुरेश और सुनील ने नया खाता व नंबर तलाशा, उसी से आरोपी पकड़ा गया। सुरेश का वैशाली नगर में आलीशान ऑफिस है, जहां महिलाकर्मी पीड़ितों को झूठे केस में फंसाने की धमकी भी देती थीं।

COMMENT