क्रिकेटर आकाश से राहुल द्रविड़ ने कहा था- प्रैक्टिस करते रहो; अब अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम में हुआ चयन

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
2015 से जयपुर में ट्रेनिंग कर रहे आकाश। - Dainik Bhaskar
2015 से जयपुर में ट्रेनिंग कर रहे आकाश।
  • 17 साल के आकाश ने कहा- फिटनेस को पूरा ध्यान किया, कभी जंक फूड नहीं खाया
  • राजस्थान के भरतपुर के रहने वाले आकाश बेंगलुरू में प्रैक्टिस कर रहे
  • आकाश 11वीं क्लास में पढ़ाई कर रहे, पिता किसान और मां गृहणी हैं

भरतपुर. राजस्थान के भरतपुर के नंगला रामरतन गांव के रहने वाले आकाश सिंह (17) का अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम में चयन हुआ है। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज आकाश के चयन के बाद घर पर जश्न का माहौल है। आकाश, बेंगलुरु में ट्रेनिंग कर रहे हैं। दैनिक भास्कर मोबाइल एप से बातचीत में आकाश ने बताया कि उनकी इस उपलब्धि में उनके बड़े भाई लाखन की बड़ी भूमिका है।


आकाश के परिवार में बड़े भाई के साथ दो बहन हैं। पिता किसान हैं। मां गृहणी हैं। आकाश ने बताया कि परिवार ने हमेशा ही उनके खेल को सपोर्ट किया। कभी क्रिकेट छोड़ने का प्रेशर नहीं बनाया। फिलहाल, आकाश 11वीं की पढ़ाई कर रहे हैं।

राहुल द्रविड़ ने कहा था- प्रैक्टिस करते रहो
आकाश ने बताया कि उनकी एक बार मुलाकात राहुल द्रविड़ से हुई। उन्होंने खेल देखकर कहा था- प्रैक्टिस करते रहना। वह मेरे लिए सक्सेस मंत्र की तरह रहा। मैंने कभी प्रैक्टिस से समझौता नहीं किया। अब भी उनसे बात होती है। आकाश, जहीर खान और आशीष नेहरा को अपनी प्रेरणा मानते हैं।


आकाश बताते हैं कि बचपन से ही उनका क्रिकेट में इंटरेस्ट था। साल 2012 में उन्होंने प्रोफेशनली क्रिकेट खेलना शुरू किया। शुरुआत बीकानेर से की। इसके बाद 2015 में वे जयपुर आए। यहां कोच विवेक यादव ने उनकी काफी मदद की। इस दौरान उनके बड़े भाई लाखन सिंह हमेशा साथ रहे। खेल से लेकर डाइट तक का ध्यान रखा।

जंक फूड कभी नहीं खाया
आकाश बताते हैं कि तेज गेंदबाजी के लिए फिटनेस बहुत अहम है। मैं उसका पूरा ध्यान रखता हूं। मैंने कभी जंक फूड नहीं खाया।

कोच बोले- रिस्ट और फिटनेस पर काम किया
आकाश के कोच विवेक यादव कहते हैं कि जब आकाश उनके पास आया था तब ही वो काफी एथलेटिक था। उसने अपनी रिस्ट पर और फिटनेस पर काफी काम किया। उसे जो कह दिया जाता था उस पर शिद्दत के साथ काम करता था।

खबरें और भी हैं...