सियासत / भाजपा का दावा- राजस्थान में हो सकते हैं कर्नाटक से हालात, कांग्रेस को भी विधायकों की खरीद का डर



BJP-Congress face-to-face on statement of Chief Minister Gehlot
X
BJP-Congress face-to-face on statement of Chief Minister Gehlot

  • मुख्यमंत्री गहलोत के बयान पर सदन के अंदर और बाहर भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने
  • गहलोत ने कहा था कि विधानसभा चुनावों में गांवों से आवाज आ रही थी कि वह ही सीएम बनें

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2019, 06:51 AM IST

जयपुर. दो दिन पहले बजट पेश करने के बाद प्रेस कांफ्रेस में दिए गए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान ने प्रदेश की राजनीति में हलचल मचा दी है। गहलोत ने कहा था कि विधानसभा चुनावों में गांव-ढाणियों से आवाज आ रही थी कि अशोक गहलोत ही सीएम बनें, और काेई नहीं।

 

शुक्रवार को विधानसभा में सदन के बाहर बसपा विधायक राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि अशोक गहलोत राजस्थान की माटी के हैं और उनका कोई और विकल्प नहीं हो सकता। जलदाय मंत्री बीडी कल्ला, सरदारशहर से कांग्रेस विधायक भंवर लाल शर्मा, कांग्रेस विधायक प्रशांत बैरवा ने आरोप लगाया कि भाजपा विधायकों की खरीद-फरोख्त कर सकती है।

 

दूसरी तरफ, भाजपा विधायक वासुदेव देवनानी, कालीचरण सराफ व अशोक लाहोटी ने कहा कि कर्नाटक के बाद राजस्थान में सरकार अंतर्कलह में उलझ गई है और यहां मध्यावधि चुनाव हो सकते हैं।

 

बसपा प्रदेश प्रभारी बोले- हमारा समर्थन कांग्रेस काे, व्यक्ति विशेष काे नहीं
बसपा के प्रदेश प्रभारी धर्मवीर अशाेक ने कहा कि बसपा विधायक राजेंद्र गुढ़ा का सीएम अशाेक गहलाेत के समर्थन में दिया गया बयान उनकी व्यक्तिगत राय है। इससे बसपा काे काेई लेना-देना नहीं है। बसपा सिर्फ कांग्रेस काे समर्थन दे रही है। किसी व्यक्ति विशेष के समर्थन में नहीं है। मुख्यमंत्री का नाम और इससे जुड़े मामले कांग्रेस का अंदरूनी मामला है।

 

प्रदेश में 36 कौम की आवाज एक ही थी कि अशोक गहलोत सीएम बनें। बसपा के सभी 6 विधायक गहलोत के साथ हैं। गहलोत राजस्थान की माटी के हैं, उनका कोई विकल्प नहीं है। - राजेंद्र गुढा, उदयपुरवाटी से बसपा विधायक

 

राजस्थान में कांग्रेस सरकार को कोई खतरा नहीं है। भाजपा नैतिकता की बातें करती है और दूसरी तरफ चुनी हुई सरकारों को गिराने की कोशिश करती है। गुढ़ा जो कह रहे हैं वह ठीक ही कह रहे हैं।- बीडी कल्ला, जलदाय मंत्री

 

कर्नाटक का असर राजस्थान पर पड़ेगा। यहां कांग्रेस विधायकों में भगदड़ मच सकती है। गहलोत असुरक्षित महसूस कर रहे हैं, इसी के चलते गांव-ढाणी से मुख्यमंत्री बनने की बात बोल रहे हैं।- वासुदेव देवनानी, अजमेर से भाजपा विधायक

 

राजस्थान में मध्यावधि चुनाव होंगे। सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट में चल रही अंतर्कलह के चलते कभी भी सरकार गिर सकती है। कांग्रेस की आपसी लड़ाई राजस्थान के लिए खतरनाक है।- कालीचरण सराफ, मालवीयनगर से भाजपा विधायक

COMMENT