विज्ञापन

1400 करोड़ से बनेगा हमारे सपनों का एयरपोर्ट, एएआई ने किया जर्मन की कंपनी से करार, जनवरी 2019 से शुरु होगा काम / 1400 करोड़ से बनेगा हमारे सपनों का एयरपोर्ट, एएआई ने किया जर्मन की कंपनी से करार, जनवरी 2019 से शुरु होगा काम

Shivang Chaturvedi

Mar 15, 2018, 03:46 PM IST

1400 करोड़ से बनेगा हमारे सपनों का एयरपोर्ट, एएआई ने किया जर्मन की कंपनी से करार, जनवरी 2019 से शुरु होगा काम

1400 crores will be our airport of dreams
  • comment

जयपुर. शहरवासियों के लिए अच्छी खबर है। जयपुर एयरपोर्ट पर आए दिन अधिक यात्रीभार से होने वाली मारामारी और परेशानी का समाधान जल्दी हो जाएगा। इस दिशा में राहत देने के लिए इस साल के अंत तक काम शुरु हो जाएगा। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) द्वारा जयपुर एयरपोर्ट के टर्मिनल का विस्तार करने का काम जर्मनी की एक कंपनी को दे दिया गया है। जानें क्या रहेगा खास...


- दरअसल जयपुर एयरपोर्ट के विस्तार का जो कार्य वर्ष 2011 से अटका हुआ था, वो अब स्वीकृत हो गया है और इस कार्य को पूरा करने की जिम्मेदारी जर्मनी की एक कंपनी को दे दी गई है।

- एएआई के दिल्ली स्थित मुख्यालय ने जयपुर एयरपोर्ट के विस्तार कार्य का जिम्मा डॉर्श कंसल्ट इंडिया प्राईवेट लिमिटेड को दिया है।

- प्रोजेक्ट मॉनीटरिंग कंसल्टेंसी का जिम्मा इस कंपनी को दिया गया है। जिसके तहत सबसे पहले यह कंपनी जयपुर एयरपोर्ट के विस्तार की डिजाइन तय करेगी।

- एयरपोर्ट अथॉरिटी की सहमति के बाद डिजाइन पर काम शुरू किया जाएगा। एएआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जनवरी 2019 से विस्तार का काम शुरु किए जाने की संभावना है। यह कार्य चार साल में पूरा हो सकेगा।

- अथॉरिटी ने इसके लिए करीब 1400 करोड़ रुपए का बजट तय किया है। एयरपोर्ट का विस्तार 1 लाख 25 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में किया जाएगा। यानी यह मौजूदा एयरपोर्ट बिल्डिंग से करीब सात गुना बड़ा होगा। इस प्रोजेक्ट को एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सबसे बड़े प्रोजेक्ट्स में से एक माना जा रहा है।

एयरपोर्ट पर विस्तार के तहत दो नई बिल्डिंग बनेंगी


- दो नई बिल्डिंग बनाई जाएंगी करार के तहत
- कंपनी ने विस्तार के लिए डिजाइन बनाना शुरू किया
- मौजूदा टर्मिनल बिल्डिंग के दोनों तरफ बनेंगी बिल्डिंग
- जगतपुरा की तरफ बनेगी डोमेस्टिक डिपार्चर के लिए बिल्डिंग
- टोंक रोड की तरफ होगी डोमेस्टिक अराइवल बिल्डिंग
- मौजूदा एयरपोर्ट बिल्डिंग से इंटरनेशनल फ्लाइट का आवागमन
- अभी एयरपोर्ट की बिल्डिंग है 18 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में
- दोनों नई बिल्डिंग बनेंगी 1 लाख 25 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में
- प्रत्येक बिल्डिंग में लगभग 4 एयरोब्रिज प्रस्तावित होंगे
- अत्याधुनिक यात्री सुविधाओं एवं पार्किंग एरिया से होगा लैस

- जब तक यह प्रोजेक्ट पूरा होगा, उससे पहले स्थानीय एयरपोर्ट प्रशासन द्वारा यात्रियों की परेशानियों को कम करने के लिए एक अन्य योजना को भी मूर्त रुप दिया जा रहा है। जिसके तहत एयरपोर्ट की मौजूदा बिल्डिंग में मोडिफिकेशन का कार्य शुरू किया जा रहा है।

- बिल्डिंग के दोनों तरफ लगभग 20 मीटर लंबाई में और बिल्डिंग के समानांतर चौड़ाई में विस्तार किया जाएगा। यह कार्य एयरपोर्ट प्रशासन अपने स्तर पर शुरू करवा रहा है। इस पर करीब 32 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा। इस कार्य को अगले 9 माह में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

मौजूदा टर्मिनल बिल्डिंग में मोडिफिकेशन हुआ शुरू


- डिपार्चर एरिया में बनाए जाएंगे नए हॉल
- जिससे अधिक यात्रियों का हो सके आवागमन
- अराइवल हिस्से में लगाई जाएंगी 3 कन्वेयर बैल्ट
- लगेज की अदला-बदली की समस्या पर लगेगी लगाम
- मौजूदा बिल्डिंग में दो नए एयरोब्रिज भी बनेंगे
- एक साथ चार विमानों में हो सकेगा पैसेंजर मूवमेंट

- जयपुर एयरपोर्ट के इन विकास कार्यों के पूरा होने पर यात्रियों के लिए समस्याएं नहीं रहेंगी। जयपुर एयरपोर्ट पर भीड़भाड़ और कतारों की समस्या से निजात मिल सकेगी। ऐसा इसलिए क्योंकि अब मोडिफिकेशन का कार्य शुरू हो चुका है और विस्तार का प्रोजेक्ट भी अवॉर्ड किया जा चुका है। ऐसे में उम्मीद है कि हवाई यात्रियों को यह राहत जल्द ही मिल सकेगी।

X
1400 crores will be our airport of dreams
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन