--Advertisement--

सरकार की लेटलतीफी, हवाई यात्रियों पर भारी : जोधपुर, उदयपुर सहित 32 एयरपोर्ट नहीं हो सके हैंड-बैगेज टैग फ्री

सरकार की लेटलतीफी, हवाई यात्रियों पर भारी : जोधपुर, उदयपुर सहित 32 एयरपोर्ट नहीं हो सके हैंड-बैगेज टैग फ्री

Dainik Bhaskar

Jan 27, 2018, 02:48 PM IST
डेमाे पिक। डेमाे पिक।

जयपुर। यात्रियों का समय बचाने की दिशा में एयरपोर्ट से जुड़ी सुरक्षा एजेंसियां अभी काफी पीछे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि एयरपोर्ट पर यात्रियों के समय की बचत और अन्य परेशानियों से बचने के लिए केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) और ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी (बीसीएएस) ने देश के 59 एयरपोर्ट से हैंडबैगेज टैग को सिक्योरिटी स्टैंपिंग फ्री बनाने का फैसला किया था। इस योजना को पूरा करने की निर्धारित समय सीमा 31 दिसंबर 2017 रखी गई थी। समय सीमा खत्म हो चुकी है, लेकिन अभी भी जोधपुर, उदयपुर सहित 32 एयरपोर्ट हैं, जहां से यह व्यवस्था खत्म की जानी है। जानिए और इस बारे में ...

- योजना के तहत चार चरणों में अप्रैल 17 से सितंबर 17 के मध्य 27 एयरपोर्ट में ही हैंड-बैगेज टैग में सिक्योरिटी स्टैंपिंग की प्रक्रिया खत्म की गई है।

स्टैंपिंग खत्म करने की वजह

- यात्री अपने लगेज (सामान) के एक्स-रे के बाद इस इंतजार में खड़े रहते हैं कि कब उनके बैग के टैग में सिक्योरिटी स्टैंप लगे और वे बोर्डिंग गेट के लिए जाएं। इस कारण वहां न केवल भीड़ लगती है बल्कि यात्रियों की सुरक्षा जांच प्रक्रिया धीमी हो जाती है। इस कारण सुरक्षा जांच के लिए लंबी लाइन लग जाती है। वहीं अगर गलती से किसी यात्री के बैग में सिक्योरिटी स्टैंप नहीं लग पाया और वो बोर्डिंग गेट तक पहुंच गया तो सुरक्षा अधिकारी उसे बोर्डिंग गेट से सिक्योरिटी स्टैंप लगवाने के लिए वापस भेज देते थे, भले ही उसकी फ्लाइट छूट जाए।

जयपुर सहित 27 एयरपोर्ट पर स्टैंपिंग खत्म

- जयपुर सहित देश के 27 एयरपोर्ट्स पर हैंड-बैगेज को सिक्योरिटी स्टैंप फ्री किया जा चुका है। इनमें दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, जयपुर, पटना, इंदौर, नागपुर, रांची, भुवनेश्वर, बागडोगरा, पुणे, त्रिची, गोवा, डिब्रूगढ़, मेंगलुरू, कोलकाता, कोचीन, गुवाहाटी, लखनऊ, त्रिवेंद्रम, चेन्नई, वडोदरा, कोयंबटूर, कालीकट, हैदराबाद, बेंगलुरू और वाराणसी के एयरपोर्ट्स शामिल हैं। वहीं इस योजना के तहत अभी औरंगाबाद, राजकोट, सिलचर और मदुरई के एयरपोर्ट्स पर इसका ट्रायल चल रहा है। जल्दी ही इन चारों एयरपोर्ट पर भी हैड बैगेज में सिक्योरिटी स्टैंपिंग खत्म कर दी जाएगी।


अभी 2-3 माह का समय और लगेगा

- अभी जोधपुर, उदयपुर सहित छह एयरपोर्ट्स को टैग फ्री होने में लगभग 2-3 महीने का समय और लगेगा। इनमें जोधपुर में 3 माह, उदयपुर में 1 माह, चंडीगढ़ में 1 माह, भोपाल में 2 माह, गया में 1 माह और रायपुर में 1 माह का समय लगना संभावित है।

अभी यह व्यवस्था है

- हैंड बैगेज के एक्स-रे के बाद सुरक्षा अधिकारी उसमें सुरक्षा स्टैंप लगाते हैं जिससे यह पता चल सके कि किस बैग की जांच हुई है और किसकी नहीं क्योंकि बोर्डिंग से पहले इसी टैग से पता चलता है कि बैग की जांच हुई है या नहीं।

ये हो तो मिले राहत

- एयरपोर्ट पर हाई-रिजोल्यूशन डिजिटल कैमरा, कैमरों में वीडियो एनॉटिकल फीचर (यात्री को एनालिसिस करने वाला कैमरा), एक्रोलिक बैरियर (बैगेज चेन के दोनों तरफ लगने वाली पन्नी) और बैगेज आउटपुट रोलर का साइज बढ़ाने से राहत मिलना संभावित है।

X
डेमाे पिक।डेमाे पिक।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..