Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» 351 Feet Long Shiva Statue In Nathdwara

कुतुब मीनार से भी ऊंची बनेगी ये शिव मूर्ति, त्रिशूल भी होगा खास

यहां के गणेश टेकरी में ध्यान मुद्रा में बैठे शिवजी की 351 फीट ऊंची शिव प्रतिमा नव वर्ष में नया आनंद लेकर आएगी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 02, 2018, 10:32 AM IST

  • कुतुब मीनार से भी ऊंची बनेगी ये शिव मूर्ति, त्रिशूल भी होगा खास
    +6और स्लाइड देखें
    राजस्थान के नाद्वारा में बन रही है ये मूर्ति।

    नाथद्वारा. यहां के गणेश टेकरी में ध्यान मुद्रा में बैठे शिवजी की 351 फीट ऊंची शिव प्रतिमा नव वर्ष में नया आनंद लेकर आएगी। तांबई रंग की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा का 80 प्रतिशत काम हो चुका है। साल के अंत तक इसके पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है। प्रतिमा अब आकार लेने लगी है। बता दे कि कुतुब मीनार की उंचाई करीब 239 फीट है। जानें क्या होगा खास...

    - यहां पार्क सहित बच्चों के लिए झूले, पार्किंग, शहरवासियों के मॉर्निंग वॉक के लिए 1.25 किमी लंबा वॉक वे, शिव भक्तों के लिए 300 फीट की परिक्रमा बनाई जाएगी।
    - प्रतिमा स्थल 25.42 बीघा में होगा। प्रतिमा का एरिया 27 हजार स्क्वायर फीट यानी करीब एक बीघा में होगा। बाकी 25 बीघा में 15 हजार 300 स्क्वायर फीट में हर्बल टेरिस गार्डन बनेगा।
    - इसका शिलान्यास 18 अगस्त 2012 को संत मुरारी बापू ने किया था। काम शापुरजी पालनजी लिमिटेड कंपनी करवा रही है। करीब 600 मजदूर और 100 कर्मचारी मूर्ति बनाने के काम में जुटे हैं। यहां नर्सरी, कैफेटेरिया, कॉटेज, ओपन थियेटर, म्यूजिकल लाइटिंग फाउंटेन, रिसेप्शन प्लाजा सहित कई सुविधाएं होगी।
    - शिव प्रतिमा के साथ 4 लिफ्ट और 3 सीढ़ियां बनेंगी। पर्यटक 110 फीट ऊंचाई तक जाकर दर्शन कर सकेंगे। इससे ऊपर कर्मचारियों और वीआईपी को ही जाने की अनुमति होगी। आधार सहित शिव प्रतिमा की ऊंचाई 351 फीट होगी।


    क्या होगी खासियत


    3000 टन स्टील
    30 हजार टन प्रतिमा का वजन
    315 फीट होगी त्रिशूल की लंबाई
    16 फीट ऊंचा होगा जूड़ा
    60 फीट लंबा होगा महादेव का चेहरा
    275 फीट की ऊंचाई पर गर्दन
    160 फीट की ऊंचाई पर कंधा
    175 फीट की ऊंचाई पर महादेव का कमरबंद
    150 फीट पंजे से घुटने तक की ऊंचाई
    65 फीट लंबा पंजा
    110 फीट का आधार

    सिडनी में होगी जांच


    - मिराज ग्रुप द्वारा बनवाई जा रही इस प्रतिमा को स्टील रॉड के मॉड्यूल की सहायता से बनाएंगे। स्टील से हर एक फीट पर सरिये की मदद से ढांचा तैयार कर इसमें कंकरीट भरी जाएगी। इस पर तांबा चढ़ाया जाएगा।
    - प्रतिमा की सुरक्षा गुणवत्ता की जांच सिडनी में होगी। इसके लिए एक मीटर का मॉडल बना कर उसे विंग टनल में टेस्टिंग किया जाना है। ऊंचाई पर होने के कारण हवा के वेग तथा भूकंप के अधिकतम दबाव को ध्यान में रखते हुए 250 साल में आने वाले भूंकप की अधिकतम क्षमता, हवा के वेग सहित सुरक्षा को ध्यान में रखकर करवाया जा रहा है।
    श्रद्धालुओं के लिए 4 लिफ्ट, 3 सीढ़ियां


  • कुतुब मीनार से भी ऊंची बनेगी ये शिव मूर्ति, त्रिशूल भी होगा खास
    +6और स्लाइड देखें
    2018 में काम पूरा होगा।
  • कुतुब मीनार से भी ऊंची बनेगी ये शिव मूर्ति, त्रिशूल भी होगा खास
    +6और स्लाइड देखें
    शिव की ये मूर्ति ध्यान की मुद्रा में बैठे हुए होगी।
  • कुतुब मीनार से भी ऊंची बनेगी ये शिव मूर्ति, त्रिशूल भी होगा खास
    +6और स्लाइड देखें
    मूर्ती के आसपास पार्क बनाया जाएगा। जहां एक बड़ा वॉक वे होगा।
  • कुतुब मीनार से भी ऊंची बनेगी ये शिव मूर्ति, त्रिशूल भी होगा खास
    +6और स्लाइड देखें
    मूर्ती के आसपास सिटी भी डेवलप की जाएगी।
  • कुतुब मीनार से भी ऊंची बनेगी ये शिव मूर्ति, त्रिशूल भी होगा खास
    +6और स्लाइड देखें
    मूर्ति बनाते वक्त भूंकप और हवा की रफ्तार का भी ध्यान रखा जा रहा है।
  • कुतुब मीनार से भी ऊंची बनेगी ये शिव मूर्ति, त्रिशूल भी होगा खास
    +6और स्लाइड देखें
    80 फीसदी काम हुआ पूरा।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×