--Advertisement--

50,000 से अधिक अकीदतमंदों ने प्रदेश में खुशहाली और तरक्की के लिए दुआ की

Dainik Bhaskar

Feb 06, 2018, 03:32 PM IST

50,000 से अधिक अकीदतमंदों ने प्रदेश में खुशहाली और तरक्की के लिए दुआ की

50 thousand people Celebration at ajmer dargah

अजमेर. अजमेर के नसीराबाद के पास स्थिति राजोसी गांव में मंगलवार को तीन दिवसीय धार्मिक सम्मेलन का समापन दुआ के साथ हुआ। दुआ में 50,000 से अधिक अकीदतमंद शरीक हुए। अकीदतमंदों ने प्रदेश में खुशहाली और तरक्की के लिए दुआ की वक्ताओं ने महान सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के मिशन के प्रचार प्रसार करने और गरीब नवाज की शिक्षाओं पर अमल करने का आह्वान किया। जानें क्या रहा खास...

- यह तीन दिवसीय सम्मेलन तबलीगी जमात द्वारा आयोजित किया गया समापन समारोह में दिल्ली से आए हैं मौलाना अब्दुल सत्तार ने अकीदतमंदों को अपनी जिंदगी कुरान और हदीस के अनुसार बिताने और बुराइयों से दूर रहने की नसीहत दी।
- साथ ही उन्होंने कहा कि हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती जिस मिशन को लेकर इस सर जमीन पर आए उसी मिशन को हमें आगे बढ़ाना है। - उन्होंने अपने पड़ोसियों और रिश्तेदारों के साथ अच्छा सलूक करने के लिए भी कहा।
- उन्होंने कहा कि मादरे वतन की मोहब्बत कि इस्लाम शिक्षा देता है हम जिस मुल्क में रहे उससे वफादारी करें और उसके लिए अपना तन-मन धन सब कुछ लगाएं।
- मौलाना चिराग उद्दीन मौलाना अयूब कासमी समेत अनेक उलेमाओं ने भी अकीदतमंदों को रोजा नमाज के बारे में विस्तार से बताया। साथ ही समाज में अच्छाइयों को फैलाने का आह्वान किया करीब 12:00 बजे बाद दुआ हुई। इस दुआ में अजमेर जिले के किशनगढ़ ब्यावर नसीराबाद पीसांगन गेगल गगवाना राजोसी हटूंडी सरवाड़ केकड़ी भिनाय और शहर के विभिन्न हिस्सों से अकीदतमंद शरीक हुए सम्मेलन स्थल अकीदतमंदों से भरा हुआ था।

X
50 thousand people Celebration at ajmer dargah
Astrology

Recommended

Click to listen..