--Advertisement--

हैड कांस्टेबल के 5500 पद बढ़ेंगे, सरकार पर नहीं पड़ेगा अतिरिक्त आर्थिक भार - v

हैड कांस्टेबल के 5500 पद बढ़ेंगे, सरकार पर नहीं पड़ेगा अतिरिक्त आर्थिक भार - v

Danik Bhaskar | Dec 19, 2017, 12:15 PM IST


जयपुर। प्रदेश में उन पुलिस कांस्टेबलों के लिए अच्छी खबर है जिन्हें लंबी सर्विस के बावजूद अब तक एक भी प्रमोशन नहीं मिला है। पुलिस मुख्यालय ने एक ऐसा प्रस्ताव तैयार किया है जिससे ऐसे पुलिसकर्मियों की उम्मीदों को पूरा किया जा सकेगा। इसके तहत हैड कांस्टेबलों के मौजूदा पदों में साढ़े पांच हजार की बढ़ोतरी का प्रस्ताव गृह विभाग को भेजा है, जिसे हरी झंडी भी मिल गई है। जानिए वित्त विभाग को इस पर क्यों एतराज नहीं ...

- वित्त विभाग को भी इस पर कोई एतराज नहीं होगा क्योंकि, पदों की बढ़ोतरी से वर्तमान में राज्य सरकार पर किसी तरह का अतिरिक्त वित्तीय भार नहीं आएगा।

- गृह विभाग का कहना है कि राज्य सरकार से प्रशासनिक अनुमति मिलने के बाद पुलिस मुख्यालय के प्रस्ताव को आगे बढ़ाया गया है।

- हैड कांस्टेबल के पदों में बढ़ोतरी और उन पदों को प्रमोशन से भरने से कांस्टेबल के पद रिक्त होंगे। उन्हें नई भर्ती कर भरे जाएंगे।

ऐसा है गणित

- हैड कांस्टेबल के पद बढ़ाने से सरकार पर कोई वित्तीय भार नहीं पड़ेगा क्योंकि, वर्तमान में बड़ी संख्या में ऐसे कांस्टेबल हैं जिनकी लंबी सर्विस हो चुकी है और आर्थिक प्रमोशन के चलते उनका वेतन हैड कांस्टेबल से कहीं ज्यादा है। पद का प्रमोशन देने से सरकार में अनुसंधान अधिकारियों की संख्या में भी बढ़ोतरी होगी। इसका असर यह होगा कि इससे पेंडेंसी खत्म करने में मदद मिलेगी।

यूं बदल जाएगा हैड कांस्टेबल-कांस्टेबल का अनुपात
- गृह विभाग के अनुसार प्रदेश की जिला एवं यूनिट्स को मिलाकर कांस्टेबलों के 78 हजार 734 और हैड कांस्टेबल के 13 हजार 782 पद स्वीकृत हैं।

- कांस्टेबल की तुलना में 16 फीसदी हैड कांस्टेबल हैं यानी छह कांस्टेबल पर औसतन एक हैड कांस्टेबल। हैड कांस्टेबल के पदों में बढ़ोतरी कर इससे कांस्टेबलों की तुलना में 25 प्रतिशत तक करना है। इस लिहाज से चार कांस्टेबल पर औसतन एक हैड कांस्टेबल हो जाएगा।

अगले साल कांस्टेबलों की एक और भर्ती की उम्मीद
- पुलिस मुख्यालय ने गत बजट से पहले कांस्टेबलों के 10 हजार 500 पदों को भरे जाने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा था, लेकिन, बजट में सरकार ने 5500 पदों को ही भरने की स्वीकृति जारी की थी। अब पुलिस मुख्यालय ने हैड कांस्टेबलों के पद बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है। बढ़े हुए पद कांस्टेबलों के प्रमोशन से भरे जाएंगे। इससे कांस्टेबलों के पद और रिक्त हो जाएंगे। ऐसे में पूरी उम्मीद है कि अगले बजट में सरकार ने कम से कम पांच हजार कांस्टेबलों के पदों पर भर्ती और निकाल सकती है।