--Advertisement--

दिल्ली में जिस मुद्दे पर विधायकों की सदस्यता खत्म हुई, राजस्थान में आप उसी मुद्दे पर बीजेपी विधायकों के खिलाफ उतरी चुनाव आयुक्त को प्रजेंटेशन सौंपकर कहा यहां पर भी 10 संसदीय सचिव के कारण संविधान के अनुच्छेद 164(1) का उल्लंघन हुआ, कार्रवाई काराओं

दिल्ली में जिस मुद्दे पर विधायकों की सदस्यता खत्म हुई, राजस्थान में आप उसी मुद्दे पर बीजेपी विधायकों के खिलाफ उतरी चुनाव आयुक्त को प्रजेंटेशन सौंपकर कहा यहां पर भी 10 संसदीय सचिव के कारण संविधान के अनुच्छेद 164(1) का उल्लंघन हुआ, कार्रवाई काराओं

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 03:11 PM IST
राजस्थान विधानसभा। राजस्थान विधानसभा।

जयपुर। जिस मुद्दे पर दिल्ली में आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता खत्म हुई, उसी मुद्दे पर आम आदमी पार्टी ने राजस्थान में बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए, यहां भी लाभ के पदों पर आसीन विधायकों को अयोग्य घोषित कराने के लिए मुख्य चुनाव आयुक्त को प्रजेंटेशन दिया है। जानिए और इस बारे में ...

- आम आदमी पार्टी की तरफ से सोमवार को मुख्य चुनाव आयुक्त को ज्ञापन सौंपते हुए मांग रखी गई कि प्रदेश में लाभ के पद पे आसीन विधायकों की संसदीय सचिव की नियुक्ति निरस्त कराई जाएं।

- विधि प्रकोष्ठ अध्यक्ष पूनम चंद भंडारी ने बताया कि राजस्थान सरकार में 10 संसदीय सचिव बनाएं हुए हैं जो नियमानुसार अवैध हैं और यह संविधान के अनुच्छेद 164 (1) का उल्लंघन है। सभी विधायक सरकारी बंगला गाड़ी तथा भत्ते के रूप में लाभ प्राप्त कर रहे हैं। यह लाभ के पद पर आसीन हैं। जो भी विधायक संसदीय सचिव नियुक्त किए गए हैं उनकी नियुक्ति तुरंत प्रभाव से निरस्त की जाए अथवा विधायक को अयोग्य घोषित किया जाए।