Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News »News» Ajmer Blackmailing Case One More Accused Surrender

अजमेर ब्लैकमेल कांड के आरोपी वीडियो ग्राफर ने किया सरेंडर

मोहन ठाडा | Last Modified - Feb 15, 2018, 06:57 PM IST

1992 में बहुत चर्चित अजमेर ब्लैकमेल कांड के आरोपी वीडियो ग्राफर सोहेल गनी ने गुरुवार को सरेंडर कर दिया।
  • अजमेर ब्लैकमेल कांड के आरोपी वीडियो ग्राफर ने किया सरेंडर
    +2और स्लाइड देखें
    आरोपी सोहेल गनी ने कोर्ट में किया सरेंडर।

    अजमेर. 1992 में बहुत चर्चित अजमेर ब्लैकमेल कांड के आरोपी वीडियो ग्राफर सोहेल गनी ने गुरुवार को सरेंडर कर दिया। बताया जाता है कि सोहेल की वीडियो कैसेट की दुकान थी। जिसमें एक स्टूडियो भी था। जहां पीडितों की वीडियो बनाई गई। यह कांड सबसे पहले 1992 में ही सामने आया था। जानें पूरा मामला,...


    - बता दें कि सोहेल गनी ने आज शाम 5:30 बजे कोर्ट में सरेंडर किया। जिसकी अजमेर के दरगाह बाजार की पूल गली के अंदर वीडियो कैसेट की दुकान थी। स्टूडियो भी था। यहां लड़कियां भी फोटो खिंचाने आती थी। जिसे वो
    एडिटिंग कर ब्लैकमेल करता था।

    25 साल में इस दौर से गुजरा मामला


    1. 1992 में पूरे स्कैंडल का भांडा फूटा था तब पीड़ित युवतियों के बयान व अन्य सबूतों के आधार पर करीब दस आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।
    2. 1994 में आरोपियों में से एक पुरुषोत्तम ने जमानत पर छूटने के बाद सुसाइड कर लिया।
    3. केस का पहला फैसला मुकदमा दर्ज होने के छह साल बाद 1998 में आया। तत्कालीन जिला जज कन्हैयालाल व्यास ने आठ आरोपियों को उम्र कैद से दंडित किया।
    4. इस फैसले से कुछ समय पहले प्रकरण के आरोपी फारूख चिश्ती को सिजोफ्रेनिया नाम मानसिक रोग होने की बात सामने आई और इसकी वजह से उसके खिलाफ मुकदमा टल गया और बाद में उसकी अलग से सुनवाई हुई।
    5. जिला न्यायाधीश के फैसले के खिलाफ आरोपियों ने हाईकोर्ट में अपील पेश की दी जहां से सजा कम कर दस साल कारावास कर दी गई।
    6. सजा कम होने बाद मुल्जिमों सहित राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अलग-अलग अपील दायर की जिसका निस्तारण करते हुए दस साल की सजा यथावत रखी गई।
    7. 2003 में दिल्ली के धौलाकुआं में नफीस चिश्ती को बुरके में गिरफ्तार किया गया और उसके खिलाफ मुकदमे की सुनवाई शुरू हुई। सुनवाई पूरी होने से पहले ही 2010 में नसीम और इकबाल भाटी पकड़े गए और फिर 2012 में सलीम चिश्ती हत्थे चढ़ गया। इस तरह पांच आरोपियों के खिलाफ नए सिरे से मुकदमा शुरू हुआ जो अब भी लंबित है।
    8. 2017 में सलीम चिश्ती ने हाईकोर्ट में जमानत अर्जी के लिए अर्जी लगाई थी, हाईकोर्ट ने अर्जी खारिज कर दी।

  • अजमेर ब्लैकमेल कांड के आरोपी वीडियो ग्राफर ने किया सरेंडर
    +2और स्लाइड देखें
  • अजमेर ब्लैकमेल कांड के आरोपी वीडियो ग्राफर ने किया सरेंडर
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Ajmer Blackmailing Case One More Accused Surrender
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×