Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News »News» Biometric Machine In Railway Head Office

रेलवे मुख्यालय में लगी बायोमेट्रिक मशीनें, लेट होने पर कट सकती है सीएल और सैलेरी

Shivang Chaturvedi | Last Modified - Feb 08, 2018, 07:02 PM IST

इस सिस्टम के माध्यम से रेलवे बोर्ड जोनल और डिविजनल रेलवेज के अधिकारियों और कर्मचारियों पर नजर रखेगा।
रेलवे मुख्यालय में लगी बायोमेट्रिक मशीनें, लेट होने पर कट सकती है सीएल और सैलेरी

जयपुर. रेलवे बोर्ड की सख्ती के बाद अब उप रेलवे आधार इनेबल्ड बायोमैट्रिक अटेंडेंस सिस्टम (एईबीएएस) को लेकर गंभीर दिख रहा है। रेलवे बोर्ड ने पिछले दिनों सभी जोनल रेलवेज को इसे हर हाल में लागू करने के निर्देश दिए हैं।

- इस सिस्टम के माध्यम से रेलवे बोर्ड जोनल और डिविजनल रेलवेज के अधिकारियों और कर्मचारियों पर नजर रखेगा।

- हाल ही में उप रेलवे ने जवाहर सर्किल स्थित मुख्यालय में लगभग 35 बायोमेट्रिक मशीन लगाई हैं।

- इस मशीन की खासियत यह है कि यह एंड्रॉयड आधारित ना होकर लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम आधारित है।

इसे हैक नहीं किया जा सकेगा। कर्मचारियों व अधिकारियों को एक सेंसर कार्ड दिया गया है। जो कि आधार से लिंक है। इसमें लॉगइन करने के लिए सबसे पहले कार्ड को स्कैन करना पड़ेगा। इसके बाद फिंगर प्रिंट स्कैन करना पड़ेगा। कार्ड और फिंगर अगर मैच नहीं होता है, तो लॉगइन नहीं किया जा सकेगा। रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि लगातार तीन-चार दिन लेट होने पर अगले दिन से कैजुअल लीव (सीएल) काटी जा सकती है। अगर किसी कर्मचारी के पास सीएल खत्म हो जाती है, तो उसकी उस दिन की सैलरी भी काटी जा सकती है। अगर इसके बाद भी स्थिति में सुधार नहीं होता है, तो संबंधित अधिकारी व कर्मचारी पर डीएआर के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हालांकि फील्ड स्टाफ को विशेष परिस्थितियों में इस दायरे से बाहर रखा गया है। फिलहाल इसका ट्रायल किया जा रहा है। सफल रहने पर इसे मुख्यालय के सभी फ्लोर व सभी मंडल व वर्कशॉप में भी लगाया जाएगा। गौरतलब है कि उप रेलवे मुख्यालय में लगभग 2200 अधिकारी व कर्मचारी कार्यरत हैं।

इस तरह की जाएगी निगरानी :आधार इनेबल्ड बायोमैट्रिक अटेंडेंस सिस्टम की डिविजन के ब्रांच स्तर के कार्यालयों की निगरानी डीआरएम ऑफिस द्वारा की जाएगी। वहीं डीआरएम ऑफिस के सिस्टम पर जोनल हेड क्वार्टर द्वारा नजर रखी जाएगी। वहीं डिविजन और जोनल ऑफिस की मॉनिटरिंग रेलवे बोर्ड द्वारा की जाएगी। इसके साथ ही बोर्ड ने अटेंडेंस सिस्टम की तरह ही स्टेशनों पर सीसीटीवी कैमरा लगाने के काम में भी तेजी लाने के निर्देश दिए हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: relovee mukhyaaly mein lagi baayometrik mshinen, let hone par kt skti hai siel aur saileri
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×