--Advertisement--

तीन बार पलटी कार खंबे से जाकर रुकी, आधे घंटे सड़क पर ही पड़े रहे लड़के

तीन बार पलटी कार खंबे से जाकर रुकी, आधे घंटे सड़क पर ही पड़े रहे लड़के

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 12:17 PM IST
राजस्थान के डूंगरपुर के सीमलव राजस्थान के डूंगरपुर के सीमलव

सीमलवाड़ा/डूंगरपुर. राजस्थान के सीमलवाड़ा और धंबोला के बीच कार हादसे में सीमलवाड़ा निवासी एक युवक की मौत हो गई। साथ ही 3 घायल हो गए। हादसा इतना भयानक था कि बिजली के पोल के सपोर्टर तार आड़े न आ गए होते तो संभवत: तीन की मौत और हो जाती। हादसे में कार तीन बार पलटी है। जानें पूरा मामला...

- सीमलवाड़ा निवासी सुशील पंचाल (18) का दोस्त विजेश पंचाल दो दिन पहले ही कुवैत से आया था।
- विजेश की पहल पर रात को सुशील, विजेश, सचिन और चिराग चारों विजेश की कार से ही धंबोला की ओर घूमने के लिए निकले।
- कार विजेश ड्राइव कर रहा था। कुछ ही दूरी पर तहसील कार्यालय के निकट कार अनियंत्रित हो गई ओर सड़क के एक ओर गिरने लगी। करीब 50 फीट तक कार घसीटती गई और आगे 33 केवी बिजली लाइन के सपोर्टर से टकराकर रुकी। हादसे में सुशील को गहरी चोट लगी।

- आधे घंटे तक उसी स्थिति में चारों पड़े रहे, बाद में एक को होश आया तो इसकी जानकारी परिजनों को दी गई। बाद में एंबुलेंस से अस्पताल ले जाया गया, लेकिन सुबह 5 बजे के आसपास सुशील की उपचार के दौरान मौत हो गई।
- इस घटना के बाद सुशील की मां और नानी दोनों बेसुध हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाकी तीनों का इलाज चल रहा है।

मां रोते हुए बार-बार बेटे को ही याद करते कहती है कि कालू आ जा...तेरी मम्मी भर्ती है


- पूरे पंचाल परिवार में गमगीन माहौल है। बेटे की मौत के सदमे में मां संतोष भी अस्पताल में भर्ती है। मां बार-बार एक ही बात कहती है कि बेटा कालू (घर में लाड़ से सुशील को कालू बुलाते थे) तेरी मम्मी अस्पताल में भर्ती है, तू कहां है, आ जा...फिर मां रोने लगती है और कुछ ही देर में फिर बोलने लग जाती है कि बेटा तो तेरी मां का बहुत ख्याल रखता था। आज कहां है। परिजन ढांढस बंधाते हैं।


घर से निकले और 3 किमी की दूरी ही तय की थी


- जिस जगह हादसा हुआ है, वह जगह और धंबोला के बीच करीब 3 किमी की ही दूरी थी। ये सभी चचेरे भाई थे। कुवैत से आए विजेश का 18 फरवरी को विवाह था और इसकी तैयारी के चलते वह दो दिन पहले ही कुवैत से धंबोला आ गया था।

मां को आनंदपुरी पहुंचाने गए सुशील को फोन कर बुलाया था


- सुशील के मामा कपिल पंचाल ने बताया कि आनंदपुरी में परिवार में ही एक शादी थी। दिन में सुशील बाइक से मां को पहुंचाने आनंदपुरी आया था। बार-बार विजेश पंचाल का कॉल आ रहा था, इससे वह शाम को ही रवाना हो गया था। सवाल उठता है कि विजेश बार-बार फोन क्यों कर रहा था। हादसे में बाकी तीन कम घायल हैं, लेकिन सुशील को ही चोट ज्यादा क्यों लगी।

X
राजस्थान के डूंगरपुर के सीमलवराजस्थान के डूंगरपुर के सीमलव
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..