Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Cm Mehbooba Mufti In Ajmer Dargah

जम्मू कश्मीर में शांति के लिए CM मुफ्ती ने मांगी मन्नत, दरगाह जियारत करने पहुंची

जम्मू कश्मीर में शांति के लिए CM मुफ्ती ने मांगी मन्नत, दरगाह जियारत करने पहुंची

Anant Aeron | Last Modified - Feb 15, 2018, 02:08 PM IST

अजमेर. जम्मू कश्मीर मैं सुरक्षा बलों पर जारी आतंकी हमला और अशांति के बीच मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती गुरुवार को महान सूफी संत हज़रत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के दर पहुंची। CM मुफ्ती ने गरीब नवाज की मजार पर मखमल की चादर और अकीदत के फूल पेश कर जम्मू कश्मीर में अमन और शांति के लिए मन्नत मांगी। जानें क्या रहा खास...

- महबूबा मुफ्ती कड़े पहरे में दरगाह जियारत को आई थी। महबूबा मुफ्ती दोपहर करीब 1:30 बजे किशनगढ़ हवाई अड्डे पर उत्तरी उसके बाद सड़क मार्ग से अजमेर पहुंची।
- कुछ देर गेस्ट हाउस में रुक कर सीधे गरीब नवाज की दरगाह पहुंची दरगाह के मुख्य द्वार निजाम गेट पर उनकी आगवानी की गई।
- बुलंद दरवाजे से वह सिर पर अकीदत का नजराना लेकर आस्ताना शरीफ पहुंची। मजार शरीफ पर अकीदत का नजराना पेश किया। खादिम ने उन्हें जियारत कराई दरबार की चुनरी ओढ़ाकर दस्तारबंदी की और गरीब नवाज की दरगाह तबर्रुक भेंट किया। - उन्होंने कश्मीर में शांति के लिए विशेष दुआ की।


काफी देर तक दुआ में रही, लंबे समय बाद आई है दरगाह

- दरगाह सूत्रों के मुताबिक इससे पूर्व मुफ्ती कश्मीर में भाजपा के साथ बनी उन की सरकार के बाद दरगाह जियारत को आई थी।
- उसके बाद अब उनका जियारत को आना हुआ है।

फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला भी आते हैं

- जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी सत्ता में रहे, तब भी और सत्ता से बाहर रहने पर भी समय समय पर दरगाह जियारत को आते रहें।
- हाल ही में जम्मू कश्मीर के नेता गुलाम नबी आजाद की पत्नी शमीम आजाद ने भी दरगाह जियारत की है। इसके अलावा भी कश्मीर के अन्य मंत्री और विशिष्टजन गरीब नवाज की चौखट चूमने के लिए आते रहते हैं इन दिनों दरगाह में कश्मीर के जायरीन की संख्या भी बनी हुई है। आमतौर पर सर्दियों में कश्मीर से काफी जायरीन दरगाह जियारत को आते हैं।

फोटोज- आरिफ कुरैशी



दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×