--Advertisement--

अवैध बजरी खनन के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, नुक्कड़ नाटक भी किया

अवैध बजरी खनन के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, नुक्कड़ नाटक भी किया

Danik Bhaskar | Feb 08, 2018, 01:03 PM IST
सरकार की नीतियों के विरोध में सरकार की नीतियों के विरोध में


जयपुर। कांग्रेस ने गुरुवार को अवैध बजरी खनन, पीएम नरेंद्र मोदी के हालिया बयान के विरोध में प्रदर्शन किया तथा नुक्कड़ नाटक कर बेरोजगारी की पीड़ा को उजागर किया। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री के पकौड़े वाले बयान के विरोध में पकोड़े तल कर बेरोजगारों की व्यथा को उजागर किया। उल्लेखनीय है कि पीएम ने हाल ही बयान दिया था कि पकौड़े बेचना भी रोजगार का बड़ा माध्यम है। प्रदर्शन में राजस्थान विश्वकर्मा मजदूर संघ के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता भी शामिल हुए। जानिए और इस बारे में ...

- राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की उपाध्यक्ष एवं मीडिया चेयरपर्सन डॉ. अर्चना शर्मा ने प्रदर्शनकारियों को सं‍बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार की नीतियों के कारण गरीब श्रमिकों के रोजगार पर कुठाराघात हुआ है। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने गत दिनों बेरोजगारों के जले पर नमक छिड़कने वाला बयान देकर देश के करोड़ों युवाओं को निराश किया है। उन्होंने कहा कि सरकार रोजगार नहीं दे पा रही है।

सरकार की नीति से उपभोक्ता परेशान

- प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की और सस्ती दरों पर बजरी उपलब्ध करवाने की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने पकौड़े तल कर लोगों को खिलाए। प्रदर्शन के दौरान बजरी खनन की समस्या के कारण बेरोजगार श्रमिकों के परिवारों को आ रही मुश्किलों का सामना किस तरह से करना पड़ रहा है, इसको लेकर एक नुक्कड़ नाटक का भी मंचन भी किया गया।


शुक्रवार को यहां होगा प्रदर्शन
- अर्चना ने बताया कि 9 फरवरी को गुर्जर की थड़ी, गोपालपुरा बाईपास पर उक्त मुद्दे को लेकर विरोध-प्रदर्शन किया जाएगा। यह प्रदर्शन 14 फरवरी तक जारी रहेगा। इसके बाद 15 फरवरी को विधानसभा पर धरना दिया जाएगा।

- प्रदर्शन में मालवीय नगर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष देवेश चौहान, सी-स्कीम ब्लॉक अध्यक्ष स्वर्णिम चतुर्वेदी, शिव कुमार शर्मा, लोकेश सैनी, होशियार सिंह चौधरी, वेद प्रकाश, आशीष शर्मा, भगवान सहाय बेनीवाल, राजेन्द्र शर्मा, चिराग मिश्रा, पवन यादव, श्रवण भाटी, महेन्द्र बैरवा, दिनेश गुप्ता, रामावतार अग्रवाल, दीपक गुप्ता, हरिराम बैरवा, हीरालाल शास्त्री, मुरारीलाल जांगिड़, विजय कुमावत, योगेश शर्मा, सूरज मीना, मनोज कुमावत सहित सैकड़ों लोग तथा राजस्थान विश्वकर्मा मजदूर संघ के अध्यक्ष रामप्रसाद गुर्जर और महामंत्री प्रभुदयाल बैरवा भी शामिल रहे।

आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज