Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Crime Report Of Rajasthan By Gulab Chand Kataria

पुलिस ने पकड़े 3000 रोमियो, प्रदेश में महिला अपराध 12 फीसदी तक घटे

पुलिस ने पकड़े 3000 रोमियो, प्रदेश में महिला अपराध 12 फीसदी तक घटे

Manoj Sharma | Last Modified - Feb 14, 2018, 05:29 PM IST

जयपुर.गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने बुधवार को विधानसभा में स्पष्ट किया कि प्रदेश में महिलाओं से संबंधित अपराधों में चार साल में 12 प्रतिशत तक की कमी आई है। सिर्फ पांच जिले जोधपुर, भरतपुर, बारां, बाड़मेर एवं सवाई माधोपुर में महिला अपराधों का ग्राफ बढ़ा है। इसलिए, एसडीओ हैड क्वार्टर पर महिला थाने खोले जाने का कोई औचित्य नहीं है। पुलिस ने प्रदेश में पिछले एक साल में 3000 से ज्यादा रोमियो गिरफ्तार किए।


- भाजपा विधायक द्रोपदी के सवाल के जबाव में कटारिया ने बताया कि राजस्थान में 40 पुलिस जिले हैं और प्रत्येक जिले में एक महिला थाना स्थापित है।

- पिछले साल कोटा के महिला थाने में सबसे ज्यादा 330 मुकदमे दर्ज किए गए।

- इसके अलावा 6 जिले ऐसे हैं जिनमें 200-300, 17 जिलों में 100-200 और16 जिलों में 1 से 100 तक मुकदमे दर्ज हुए हैं। इन मुकदमों की संख्या को देखते हुए महिला थाने और खोले जाने की कोई आवश्यकता नहीं है।

- उन्होंने कहा कि प्रदेश में 861 थानों में से 786 में महिला डेस्क बनी हुई है। किसी को कोई शिकायत है तो वह डेस्क को अपनी बात कह सकती है। यहीं नहीं मुकदमे को महिला थाने में ट्रांसफर भी करवा सकते हैं।

सीएलजी में महिलाओं की संख्या बढ़ेगी

- कटारिया ने कहा कि जिला, सीओ एवं थानों में सीएलजी कमेटियों में महिलाओं की संख्या है, लेकिन आशानुरूप नहीं है। वह कोशिश करेंगे कि कमेटियों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़े। ताकि, वह महिलाओं से संबंधित मसलों को पुरजोर तरीके से उठा सके।

पुलिस ने पकड़े 3000 रोमियो


- गृहमंत्री ने बताया कि प्रदेश में सादा एवं वर्दीधारी पुलिस वालों ने महिलाओं से छेड़छाड़ करने के आरोप में पिछले एक साल में 3000 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया।

- सादा वर्दी में 1187 पुलिसकर्मियों को तैनात किया था, जिन्होंने 713 लोगों को पकड़ा। इसी तरह वर्दी में विभिन्न स्थानों पर तैनात 3582 पुलिस कर्मियों में 2386 लोगों को दबोचा।

- महिलाओं से संबंधित अपराधों को रोकने के लिए पुलिस ने यह कार्रवाइयां की है।

सरकार नए थाने संसाधन होंगे तब खोलेगी


- कटारिया ने एक अन्य सवाल के जबाव में कहा कि प्रदेश के कई हिस्सों में थाने एवं चौकियां खोले जाने के प्रस्ताव उन्हें विधायकों एवं अन्य जन प्रतिनिधियों ने दिए हैं।

- सरकार के पास संसाधन होंगे तक नए थाने- चौकियां खोलने पर विचार किया जा सकता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×