--Advertisement--

एडीज एजिप्टाई मच्छर के काटने से फैलने वाले डेंगू नेे 17 साल का रिकार्ड तोड़ा

एडीज एजिप्टाई मच्छर के काटने से फैलने वाले डेंगू नेे 17 साल का रिकार्ड तोड़ा

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 02:41 PM IST

जयपुर। एडीज एजिप्टाई मच्छर के काटने से फैलने वाले डेंगू ने पिछले 17 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। इस साल डेंगू के 8, 312 पॉजिटिव केसेज मिले हैं, जो पिछले साल के मुकाबले 3 हजार 20 ज्यादा हैं। ये ही नहीं डेंगू के डंक ने 16 लोगों की जान ली है। भास्कर ने विशेषज्ञ के जरिए पिछले 17 साल का आंकड़ों का विश्लेषण पर पाया कि इस साल सबसे ज्यादा केसेज मिलने पर रिकॉर्ड तोड़ा है। जानिए कौन से जिले सबसे ज्यादा प्रभावित ....

- ज्यादा प्रभावित जिलों में कोटा (2178), जयपुर ( 2171), धौलपुर (620), टोंक (322) एवं बारां में (297) केसेज मिले हैं। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग डेंगू को रोकने में पूरी तरह फेल साबित रहा है। विभाग के समय पर न तो एंटी लार्वा गतिविधि ना ही फोगिंग कराने के कारण डेंगू काे काबू करने के दावे झूठे साबित हो रहे हैं।

- केन्द्र सरकार ने भी राजस्थान समेत मौसमी बीमारी से प्रभावित राज्यों को नियंत्रण के लिए पहले से चेताकर इंतजाम करने के आदेश दिए हैं।

डेंगू का कहर

- नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलोजी पुणे के डॉ. परेश शाह के अनुसार पहले तो डेंगू का कहर दक्षिण राज्यों में ज्यादा था, लेकिन अब तो कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, वेस्ट बंगाल, पंजाब, असम, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, राज्यों में तेजी से फैल रहा है।

- राजस्थान में वर्ष 2001 में डेंगू के जहां 1452 पॉजिटिव केसेज मिले थे, जो बढ़कर 8 हजार के पार हो गए हैं।

मिशिगन वायरस सक्रिय

- ठंड़ पड़ने पर डेंगू के साथ-साथ स्वाइन फ्लू का ‘मिशिगन वायरस’ सक्रिय होने लगा है। स्वाइन फ्लू केे दिसंबर में अब तक 125 पॉजिटिव में से 11 की मौत हो चुकी है जबकि प्रदेशभर में इस साल 3, 320 से ज्यादा पॉजिटिव में से 255 की मौत हुई है। अकेले जयपुर में 1, 270 पॉजिटिव में से 54 की मौत होने पर चिकित्सा विभाग के इंतजामों की पोल खोल दी है।

- एसएमएस अस्पताल के मेडिसन विभाग के डॉ. पुनीत सक्सेना का कहना है कि ठंड में रेस्पीरेटरी वायरस सक्रिय हो जाते हैं। जिसके कारण बीमारी फैलने की संभावना रहती है।

जिम्मेदार भी मान रहे डेंगू हो रहा बेकाबू

- पिछले साल के मुकाबले डेंगू के मामले बढ़े हैं। जिस क्षेत्र में पॉजिटिव केसे मिलता है, वहां एंटीलार्वा गतिविधि के साथ-साथ सर्वे कराया जाता है। इस साल अब तक 8 हजार 312 पॉजिटिव केसेज मिले हैं। - डॉ. रवि प्रकाश माथुर, अतिरिक्त निदेशक (ग्रामीण स्वास्थ्य)

किस साल कितने केसेज
वर्ष : केसेज
2001: 1452
2002: 325
2003: 685
2004: 208
2005: 370
2006: 1805
2007: 540
2008: 682
2009: 1389
2010: 1823
2011: 1072
2012: 1295
2013: 4413
2014: 1243
2015: 4043
2016:: 5292
2017: 8312
(उपयुक्त आंकड़े प्रदेशभर के हैं)