--Advertisement--

00000

00000

Dainik Bhaskar

Jan 25, 2018, 09:32 AM IST
जएलएफ में पारंपरिक नृत्य पेश क जएलएफ में पारंपरिक नृत्य पेश क

जयपुर। पांच दिवसीय जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का गुरुवार को गायत्री मंत्र के साथ भव्य आगाज हुआ। अाज से डिग्गी पैलेस में पांच दिन इस महोत्स में कला और संस्कृति के हर पहलू पर चर्चा होगी। इस उत्सव में 181 सत्रों में 35 देशों के 350 लेखक और साहित्यकार शिरकत करेंगे। ट्रिपल तलाक, पद्मावत और सुप्रीम कोर्ट के जजों के विवाद के बीच साहित्य संगम में द रसगुल्ला वार, अंबेडकर, द डांस ऑफ डेमोक्रेसी, वाई आई एम ए हिंदू, स्वच्छ भारत, इतिहास जैसे सत्र नए विवादों को जन्म दे सकते हैं। पद्मावत विवाद के कारण सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी के आने को लेकर भी असमंजस है। जानिए और इस बारे में ...

जेएलएफ एक नजर में

- 181 सत्र होंगे

- 35 देशों के 350 लेखक करेंगे शिरकत

- 2000 से ज्यादा लेखक आ चुके हैं अब तक
- 10 लाख से अधिक पाठक हो चुके हैं रूबरू

इनको देखने सुनने उमड़ेंगे साहित्य प्रेमी

हामिद करजई : 26 जनवरीद ग्रेट सर्वाइवर

पाक को आतंक की सेंक्चुरी बताने वाले अफगान के पूर्व राष्ट्रपति करजई का फ्रंट लॉन में सत्र।

शर्मिला टैगोर : 28 जनवरी

द पेरिल्स ऑफ सेलेब्रिटी
प्रसिद्ध अभिनेत्री शर्मिला टैगोर और उनकी पुत्री सोहा अली खान संजय के. रॉय के साथ संवाद करेंगी।

शशि थरूर : 27 जनवरी
वाई आई एम ए हिंदू
कांग्रेस नेता शशि थरूर वाई आई एम ए हिंदू सेशन में अरुंधती सुब्रमण्यम के साथ संवाद करेंगे।

तीसरे दिन मिलेगा द्वारका प्रसाद अग्रवाल अवार्ड
- दैनिक भास्कर की ओर से हिंदी भाषा को पहचान दिलाने के लिए दिया जाने वाला एक लाख रुपए का द्वारका प्रसाद अग्रवाल अवार्ड 27 जनवरी को दिया जाएगा। अब तक लेखक प्रभात रंजन और यतींद्र मिश्र को यह अवार्ड मिल चुका है।
Rs. एक लाख का दिया जाता है पुरस्कार


इन वक्ताओं की मौजूदगी रहेगी खास
शशि थरूर, पी.साईनाथ, सुहासिनी हैदर, विनोद दुआ, राजदीप सरदेसाई, शोभा डे, वीर सांघवी, चेतन भगत, सुरेंद्र मोहन पाठक, करण थापर, किरण मजूमदार शॉ, उर्वशी बुटालिया, गीत ताहिल, अमिताव कुमार, नासिरा शर्मा, सोनल मानसिंह, सोहा अली खान, शर्मिला टैगोर, सलिल त्रिपाठी, रीमा हूजा, लक्ष्मी प्रसाद पंत, पवन के. वर्मा, अखिल कात्याल, अनु सिंह चौधरी, गौरव सोलंकी, यतींद्र मिश्र, सौरभ द्विवेदी, सत्य व्यास, अविनाश दास, ओम थानवी, मृदुला गर्ग, और अलका सरावगी।

X
जएलएफ में पारंपरिक नृत्य पेश कजएलएफ में पारंपरिक नृत्य पेश क
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..