--Advertisement--

घर में आग लगने से दो लड़कियों सहित पांच लोग जिंदा जले

घर में आग लगने से दो लड़कियों सहित पांच लोग जिंदा जले

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 09:28 AM IST
आग से घर पूरा जल गया। आग से घर पूरा जल गया।


जयपुर। जयपुर के विद्याधर नगर में शनिवार सुबह एक घर में आग लगने से पांच लोग जिंदा जल गए। मरने वालों में दो लड़कियां, दो लड़के और एक बुजुर्ग है। दोनों लड़कियां व बुजुर्ग की जलने से मौत हुई जबकि लड़कों की दम घुटने से मौत हुई। आग से मकान भीतर से जल गया। लोगाों का आरोप है कि फायर ब्रिगेड देरी से पहुंची। आग संजीव गर्ग के मकान नंबर 39 में लगी। जानिए कैसे हुआ हादसा ...


- विद्याधरनगर के सेक्टर नौ में आरएससीबी ऑफिस के पास एक दो मंजिला मकान में आग लग गई। हादसे के समय मकान में पांच लोग थे। इनमें दो लड़के ऊपर की मंजिल पर तो दो लड़कियां और एक बुजुर्ग नीचे सो रहे थे।
- सुबह मकान में आग लग गई। मकान को जलता देख आस-पास के लोगों ने फायर ब्रिगेड व पुलिस को सूचना दी। थोड़ी देर में एक पीसीआर वैन वहां आई। पुलिस के एक जवान ने रस्सी के सहारे ऊपरी मंजिल से एक लड़के को निकाला। इसके बाद उसने चद्दर में लपेट कर दूसरे लड़के को निकाला।
- इसके बाद फायर ब्रिगेड पहुंच गई। फायर ब्रिगेड कर्मी घर में दाखिल हुए तब तक दोनों लड़कियों व बुजुर्ग की मौत हो चुकी थी।

एक लड़के की सांसें चल रही थीं
- पुलिस के जवान ने जब पहले लड़के को निकाला तब उसकी सांसें चल रही थीं। दोनों को अस्पताल ले जाने पर डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
- वहीं दोनों लड़कियों व बुजुर्ग की मौत पहले ही हो चुकी थी।

सिलेंडर फटने से लगी आग
- आग लगने का कारण अभी पता नहीं चला है पर माना जा रहा है कि आग सिलेंडर फटने से लगी। लोगों के अनुसार उन्होंने धमाके की आवाज सुनी थी। हालांकि यह जांच में ही स्पष्ट होगी कि आग कैसे लगी।

लोगों में गुस्सा

- लोगों का आरोप है कि सूचना के एक घंटे बाद फायर ब्रिगेड पहुंची। फायर ब्रिगेड का ऑफिस यहां से महज 100 मीटर की दूरी पर है।

- इसके बाद भी उनके पास संसाधन सही नहीं थे। यहां आने के बाद उनकी लैडर नहीं खुली। इसके अलावा आग बुझाने के लिए पाइप भी छोटा था।

- अगर दमकल समय से पहुंच जाती तो लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती थी।

कांवटिया में होगा पोस्टमार्टम

- शव कांवटिया अस्पताल की मोर्चरी में रखवाए गए हैं। वहीं पर शवोंका पोस्टमार्टम होगा।

इनकी गई जान

- हादसे में संजीव के पिता महेंद्र गर्ग (80), संजीव की दो बेटियों अपूर्वा और अर्पिता, संजीव के बेटे अनिमेश व संजीव के साले के बेटे शौर्य की जान चली गई।

संजीव गर्ग व उनकी पत्नी शहर से बाहर थे

- घर के मालिक संजीव गर्ग व उनकी पत्नी आगरा गए हुए थे। हादसे की जानकारी मिलने पर वे जयपुर पहुंचे।

आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज

फोटो : निरंजन चौहान

X
आग से घर पूरा जल गया।आग से घर पूरा जल गया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..