--Advertisement--

मोबाइल शॉप से लाखों रुपए के हैंडसेट चोरी, सीसीटीवी रिकॉर्डिंग की डीवीआर भी नहीं छोड़ी

खातीपुरा पुलिया के पास बदमाश एक मोबाइल शॉप का शटर तोड़कर लाखों रुपए कीमत के ब्रांडेड कंपनियों के मोबाइल फोन चुराकर ले गए।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 05:16 PM IST

- झोटवाड़ा इलाके में खातीपुरा पुलिया के समीप है मोबाइल शॉप, पहले भी हुई थी वारदात

- चार सीसीटीवी लगाकर रखे थे दुकान में, डीवीआर होने से नहीं मिला सुराग

- दुकान मालिक का दावा-करीब 20 लाख रुपए के है चोरी गए 100 ब्रांडेड मोबाइल

जयपुर। राजधानी में खातीपुरा पुलिया के पास अज्ञात बदमाश एक मोबाइल शॉप का शटर तोड़कर लाखों रुपए कीमत के ब्रांडेड कंपनियों के मोबाइल फोन चुराकर भाग निकले। गुरुवार को वारदात का पता चलने पर झोटवाड़ा थाना पुलिस मौके पर पहुंची। गंभीरता को देखते हुए एफएसएल टीम को भी बुलाया गया।

- जिस मोबाइल शॉप में नकबजनी की वारदात हुई। उसमें चार सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए थे। लेकिन सीसीटीवी में फुटेज नहीं आ सके इसके लिए बदमाश डीवीआर मशीन भी उखाड़कर ले गए। इससे उनका हुलिया सामने नहीं आ सका।

दुकान पहुंचे तो शटर उखड़ा हुआ नजर आया, तब चोरी का पता चला

- पुलिस के मुताबिक लक्ष्मी नगर, मंगोडी वालों की बगीची, ब्रह्मपुरी रोड निवासी ताराचंद गर्ग की खातीपुरा पुलिया से पहले गोवर्धन स्काई कॉम्पलेक्स के समीप विनायक इलेक्ट्रोनिक्स नाम से दुकान है। गुरुवार सुबह 11 बजे तारांचद व उनके भाई मुकेश दुकान पर पहुंचे। तब शटर एक तरफ से उखड़ा हुआ नजर आया।

- संदेह होने पर ताराचंद ने तत्काल शटर उठाकर देखा तो सन्न रह गए। वहां रखे मोबाइल फोन हैंडसेट के खाली डिब्बे पड़े थे। सामान अस्तव्यस्त पड़ा था। यह देखकर दुकान मालिक ने तत्काल झोटवाड़ा पुलिस को सूचना दी। तब पुलिस मौके पर पहुंची।

ब्रांडेड कंपनी के लगभग 100 मोबाइल हैंडसेट व एसेसरीज हुई चोरी
- तारांचद के भाई मुकेश का कहना है कि दुकान में खाली पड़े डिब्बों की गिनती करने पर पता चला कि दुकान से करीब 100 हैंडसेट और मोबाइल एसेसरीज गायब है। जिनकी कीमत करीब 20 लाख रुपए के आसपास है। वे इतने मोबाइल संभवतया किसी बैग में डालकर ले गए होंगे।

- चोरी गए मोबाइल फोन विभिन्न ब्रांडेड कंपनियों के है। दुकान में रखी डीवीआर भी बदमाश ले गए। इससे उनका हुलिया सामने नहीं आ सका। तारांचद की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरु कर दी है। इससे पहले भी दुकान में नकबजनी की वारदातें हो चुकी है।

फोटो: उदय चौधरी