--Advertisement--

कभी इस क्रिकेटर के पास स्कूल फीस के नहीं थे पैसे, अब ऐसी हुई लाइफ

कभी इस क्रिकेटर के पास स्कूल फीस के नहीं थे पैसे, अब ऐसी हुई लाइफ

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 03:52 PM IST
राहुल द्रविड़ कई बार दे चुके ह राहुल द्रविड़ कई बार दे चुके ह

जयपुर. अंडर 19 वर्ल्ड कप की शुरुआत के साथ ही जयपुर के कमलेश नागरकोटी की चर्चा भी तेज हो गई है। सौरब गांगुली ने खुद ट्वीट कर उनकी तारीफ की। उनके शानदार प्रदर्शन के कारण ही इंडिया मैच में जीत हासिल कर सकी। बता दें की मूलतः उत्तराखंड के कमलेश फिलहाल जयपुर में रहते हैं। यहां से इंडिया अंडर 19 टीम तक पहुंचने का सफर आसान नहीं था। DainikBhaskar.com से बातचीत में उन्होंने अपने लाइफ के ऐसे ही पहलू शेयर किए। जानें कमलेश के बारे में...

- कमलेश ने बताया कि उनके क्रिकेट कि शुरुआत हर किसी की तरह गली-मोहल्ले में खेलने से ही हुई।
- एक दिन संस्कार क्रिकेट अकेडमी के कोच सुरेंद्र राठौर ने उन्हें टेनिस बॉल से खेलते देखा। जिसके बाद उन्होंने ही कमलेश के परिवार से बात की।
- उन्होंने परिवार को बताया कि कमलेश अच्छा खेलता है और वो इस फील्ड में आगे भी बढ़ सकता है। शुरुआत में कमलेश के एक्शन में दिक्कत थी। जिस पर उनके कोच सुरेंद्र ने काम किया।
- उस वक्त कमलेश की उम्र महज 12 साल की थी। जिसके साथ वे 7वीं क्लास की पढ़ाई कर रहे थे।

फैमिली ने हमेशा किया सपोर्ट


- कमलेश ने बताया कि उनके परिवार ने उन्हें हमेशा क्रिकेट खेलने के लिए सपोर्ट किया। फिलहाल वे कॉलेज के फर्स्ट इयर की पढ़ाई भी कर रहे हैं, लेकिन लगातार प्रेक्टिस और खेल के बीच पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते।

स्कूल फीस के नहीं थे पैसे


- कमलेश ने बताया कि स्कूल में पढ़ाई के दौरान उन्हें स्ट्रगल का सामना करना पड़ा। उन्होंने बताया कि वे संस्कार वैली स्कूल में पढ़ना चाहते थे, लेकिन उनका फैमिली बैकग्राउंड ऐसा नहीं था कि वे स्कूल की फीस दे पाएं।
- ऐसे में स्कूल के टीचर्स और उनके कोच सुरेंद्र राठौर ने उन्हें काफी सपोर्ट किया। उन्होंने स्कूल के प्रिंसिपल से कमलेश के लिए बात की। जिसके बाद स्कूल की प्रिंसिपल ने भी कमलेश की मदद की और स्कूल फीस माफ कर दी।
- इसके साथ ही कमलेश ने बताया कि क्रिकेट कोचिंग के लिए भी उन्हें शुरुआत में कुछ दिन भी फीस देनी पड़ी। जिसके बाद वो भी नहीं देनी पड़ी।

- जिसके बाद उन्होंने पहले बाड़मेर की तरफ से खेलना शुरू किया और उसके बाद धीरे-धीरे अंडर 19 टीम में जगह बनाई।

ऐसी है लाइफ

- अब कमलेश मैचों कि सिलसिले में ज्यादातर जयपुर से बाहर ही रहते हैं। वे जब भी जयपुर आते हैं अपनी क्रिकेट अकेडमी जरूर जाते हैं।

- उन्हे कई मौकों पर क्रिकेट जगत की हस्तियों के साथ देखा जाता है। वे देश के साथ-साथ विदेशो में भी कई सीरीज खेल चुके हैं।