--Advertisement--

राजस्थान उपचुनाव : अजमेर, अलवर और मांडलगढ़ में जनता चुन रही अपना उम्मीदवार

राजस्थान उपचुनाव : अजमेर, अलवर और मांडलगढ़ में जनता चुन रही अपना उम्मीदवार

Dainik Bhaskar

Jan 29, 2018, 09:55 AM IST
मांडलगढ़ में एक बूथ पर वोट देने मांडलगढ़ में एक बूथ पर वोट देने

जयपुर। प्रदेश में लोकसभा की दो एवं विधानसभा की एक सीट पर मतदान शाम छह बजे थम गया। शाम छह बजे तक आए आंकड़ों के अनुसार मांडलगढ़ में 80 फीसदी, अजमेर में 65 और अलवर में 63 प्रतिशत मतदान हुआ है। तीनों जगहों पर मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ। अजमेर एवं अलवर लोकसभा पर सत्तारूढ़ भाजपा और मुख्य विपक्षी पार्टी में सीधी टक्कर है। वहीं, मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर कांग्रेस के बागी के उतरने से वहां त्रिकोणीय मुकाबले की स्थिति बनी है। तीनों सीटों पर 42 प्रत्याशी मैदान में है। सबसे अधिक अजमेर में 23, अलवर में 11 और मांडलगढ़ में 8 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। जानिए और इस बारे में ...

Live: राजस्थान उपचुनाव नतीजे 2018: अजमेर और अलवर में कांग्रेस की बढ़त बरकरार तो मांडलगढ़ में भाजपा

- निर्वाचन आयोग ने शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष मतदान के लिए तीनों क्षेत्रों में 12 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी तैनात किए थे। इनमें सेंट्रल पैरा मिलिट्री फोर्स की 45 कंपनियां शामिल थीं। करीब 39 लाख से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर इसके लिए 4 हजार 194 पोलिंग बूथ बनाए गए थे। इसी तरह 313 पोलिंग बूथों पर वेबकास्टिंग भी करवाई गई। नतीजे एक फरवरी को घोषित किए जाएंगे।

- मुख्य निर्वाचन अधिकारी अश्विनी भगत ने बताया कि अजमेर, अलवर और मांडलगढ़ में इस बार 39 लाख 2 हजार 168 मतदाता हैं। अलवर में 18 लाख 27 हजार 936, अजमेर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में 18 लाख 42 हजार 992 और मांडलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 2 लाख 31 हजार 240 कुल मतदाता हैं। निगरानी के लिए 476 माइक्रो आब्जर्वर लगाए गए।

2 प्रयोग पहली बार
- ईवीएम मतपत्र पर फोटो भी: ईवीएम मतपत्र पर प्रत्याशियों के नाम के साथ उनकी फोटो भी लगी दिखाई दी। देश में किसी भी लोकसभा चुनाव में पहली बार ऐसा प्रयोग किया गया। नई व्यवस्था में ईवीएम मतपत्र पर अब प्रत्याशी का नाम, फोटो और अंत में चुनाव चिन्ह था।

सर्विस वोटर्स के लिए ईटीपीबीएस तकनीक
- सर्विस वोटर्स को मतदान के लिए इलेक्ट्रोनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट्स सिस्टम (ईटीपीबीएस) तकनीक की सुविधा दी। इससे मतदान प्रक्रिया पहले से आधा समय लगा। कुल 11 हजार 580 सर्विस मतदाता थे। अलवर में 9 223, अजमेर में 2 335 और मांडलगढ़ के 22 सर्विस वोटर थे।

नेत्रहीनों के लिए ब्रेल तकनीक
- नेत्रहीन मतदाता ईवीएम मशीन पर बनी ब्रेल तकनीक से मतदान कर सके। राज्य में होने वाले उपचुनावों के लिए करीब 4 हजार 200 ब्रेल मतपत्र मुद्रित करवाए गए। नेत्रहीन मतदाता पोलिंग बूथ पर अभ्यर्थियों के क्रमांक, नाम एवं पार्टी आदि पढ़कर ईवीएम पर लगे हुए ब्रेल बटनों के माध्यम से अपने इच्छित उम्मीदवार के पक्ष मतदान कर सके।

चुनाव एक नजर में

अजमेर लोकसभा सीट
प्रत्याशी : 23
मुकाबला : सीधा, भाजपा के रामस्वरूप लांबा एवं कांग्रेस के डा. रघु शर्मा
मतदाता 18 लाख 42 हजार 992
पोलिंग बूथ : 1925
सुरक्षाकर्मी : 6000

अलवर लोकसभा सीट
प्रत्याशी : 11
मुकाबला : सीधा : भाजपा के डा. जसवंत यादव एवं कांग्रेस डा. करण सिंह यादव
मतदाता : 18 लाख 27 हजार 936
पोलिंग बूथ : 1987
सुरक्षाकर्मी : 5000

मांडलगढ़ विधानसभा सीट
प्रत्याशी : 8
मुकाबला त्रिकोणीय : भाजपा के शक्ति सिंह हाड़ा, कांग्रेस के विवेक धाकड़ एवं निर्दलीय गोपाल मालवीय
मतदाता : 2 लाख 31 हजार 240
पोलिंग बूथ : 282
सुरक्षाकर्मी : 1000

आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज

फोटो : मुकेश परिहार, राकेश मीणा


X
मांडलगढ़ में एक बूथ पर वोट देने मांडलगढ़ में एक बूथ पर वोट देने
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..