--Advertisement--

गांव का ये लड़का खेलेगा आईपीएल, कभी तानों से परेशान छोड़ना पड़ा घर

गांव का ये लड़का खेलेगा आईपीएल, कभी तानों से परेशान छोड़ना पड़ा घर

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 12:51 PM IST
राजस्थान के नागौर के पास ढाढरि राजस्थान के नागौर के पास ढाढरि

नागौर/डेगाना. देश के लिए अंडर-19 वर्ल्ड कप में दमखम दिखाने वाले महिपाल लोमरोड़ अब आईपीएल के 11वें सत्र में राजस्थान रॉयल्स टीम का हिस्सा होंगे। मूल रूप से डेगाना के पास ढाढरिया निवासी महिपाल इससे पहले आईपीएल-9 में दिल्ली डेयरडेविल्स का हिस्सा थे। ग्रामीण इलाके से निकलकर देश के लिए अंडर- 19 की टीम से वर्ल्ड कप तक का सफर तय कर महिपाल ने जिले का नाम देशभर में रोशन किया है। जानें क्यों पिता ने भेजा शहर...


- महिपाल के पिता कृष्ण कुमार लोमरोड़ ने दैनिक भास्कर से बातचीत में बताया कि महिपाल को राजस्थान रॉयल्स से 20 लाख रुपए मिलेंगे। इससे पहले दिल्ली डेयरडेविल्स में 10 लाख रुपए में चुना गया था।
- वे बोले- रिश्तेदारों और गांव वालों के तानों को दरकिनार कर उन्होंने महिपाल की इच्छा पूरी करने की ठानी। औऱ इसी वजह से गांव छोड़ दिया। उन्होंने भी महिपाल की पढ़ाई पर कम और खेल पर ज्यादा महत्व दिया।
- महिपाल को जयपुर में क्रिकेट अकेडमी ज्वाइन करवाई। महिपाल को जयपुर में अच्छा खाना मिले और उसका मन लगे, इसके लिए 80 साल की दादी सिंगारी देवी भी जयपुर जा बसी।
- महिपाल का कहना है कि अब टीम इंडिया में खेलना प्रमुख लक्ष्य है। तभी पिता और परिवार का सपना सही मायने में पूरा होगा।
- महिपाल लोमरोड़ ढाढरिया के मूल निवासी, 2011 में अंडर-15 में नागौर टीम में हुआ था चयन, महज 18 साल में आईपीएल में हुआ चयन।

राहुल द्रविड़ के करीब रहे, बहुत कुछ सीखा


- महिपाल ने बताया कि भारतीय टीम में द वॉल के नाम से पहचाने जाने वाले राहुल द्रविड़ उनके सबसे करीबी रहे हैं। उनसे काफी कुछ सीखने को मिला है।
- उन्होंने खेल के मैदान पर भी क्रिकेट की बारीकियां समझाने में मदद की। इसके अलावा उनके व्यवहार से भी काफी सीखने को मिला है। उनका विनम्रता भरा व्यवहार हमेशा सकारात्मक सीख देता है।
- वे बोले- पहले आईपीएल में दिल्ली डेयर डेविल्स और अब राजस्थान रॉयल्स की टीम का हिस्सा बनना बड़ा अचीवमेंट है। कई फोन कॉल्स और सोशल मीडिया पर बधाई संदेश मिल रहे हैं।
- उन्होंने बताया कि वे अब तक राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में 3 दोहरे शतक व 14 शतक जमा चुके हैं। जिसमें मुंबई की सचिन तेंदुलकर इलेवन के खिलाफ 250 रन की नाबाद पारी भी शामिल है।