Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» New Flights To Take Off From Jaipur Airport

अलविदा 2017 : दिसंबर तक एयरपोर्ट पर बढा 8 लाख यात्रीभार, नए साल से मिलेगी जम्मू, हैदराबाद व कुआलालंपुर के लिए नई उड़ान

अलविदा 2017 : दिसंबर तक एयरपोर्ट पर बढा 8 लाख यात्रीभार, नए साल से मिलेगी जम्मू, हैदराबाद व कुआलालंपुर के लिए नई उड़ान

Shivang Chaturvedi | Last Modified - Dec 29, 2017, 05:18 PM IST

जयपुर। हवाई सेवाओं के लिहाज से बात करें, तो जयपुरवासियों के लिए साल 2017 काफी अच्छा रहा। ऐसा इसलिए क्योंकि यहां न केवल घरेलू एयर कनेक्टिविटी बढ़ी बल्कि इंटरनेशनल फ्लाइट्स की संख्या में भी इजाफा हुआ। जयपुर एयरपोर्ट पर वर्ष 2017 में हवाई यात्रियों के लिए कई नई सुविधाएं जोड़ी गईं। एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग में बढ़ते यात्रीभार को देखते हुए एक नई एक्स-रे मशीन शुरू की गई। जानिए और इस बारे में ...

- एयरपोर्ट के फस्ट फ्लोर का अभी तक उपयोग नहीं हो पा रहा था जिसे अब शुरू किया जा चुका है और यहां पर दो नए बोर्डिंग गेट बनाए गए हैं। इसी तरह अब एयरपोर्ट पर एक ही समय में 2 नई फ्लाइट को हैंडल किया जा सकता है। अब जयपुर एयरपोर्ट पर बोर्डिंग गेट की संख्या बढ़कर 7 हो चुकी है। हालांकि यह जरूरत के हिसाब से अभी भी कम है। इसके अलावा एयरपोर्ट बिल्डिंग में मॉडिफिकेशन कर दो एयरोब्रिज बनाने की प्रक्रिया भी शुरू की जा चुकी है जो अगले साल तक पूरी होने की संभावना है। इससे एक ही समय पर चार फ्लाइट्स में यात्री एयरोब्रिज से उतर और सवार हो सकेंगे। पिछले साल दिसंबर में जयपुर एयरपोर्ट से 45 फ्लाइट संचालित हो रही थीं, जबकि वर्तमान में 61 फ्लाइट्स का संचालन हो रहा है। इस तरह कुल फ्लाइट्स की संख्या भी 16 बढ़ चुकी है जिसका फायदा यात्रियों को मिल रहा है।

इस तरह समझें बदलाव :
- वर्ष 2016 में कुल फ्लाइट : 15113
- यानी रोज औसत फ्लाइट संचालन : 41
- वर्ष 2017 में कुल फ्लाइट : 20100 (31 दिसंबर तक संभावित)
- यानी रोज औसत फ्लाइट संचालन : 55
- वर्ष 2016 में कुल यात्री : 35.65 लाख
- यानी रोज यात्रियों का आवागमन : 9768
- वर्ष 2017 में कुल यात्री : 44.22 लाख (31 दिसंबर तक संभावित)
- यानी रोज यात्रियों का आवागमन : 12115
- पिछले साल की तुलना में यात्री बढ़े : 8.56 लाख

यात्रियों की संख्या बढ़ने के साथ ही जयपुर एयरपोर्ट से नए शहरों की कनेक्टिविटी भी बढ़ी है। पिछले वर्षों में जयपुर की एयर कनेक्टिविटी देश के केवल 9 प्रमुख शहरों तक सीमित थी। दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलूरू, हैदराबाद, अहमदाबाद, पुणे और उदयपुर के लिए फ्लाइट संचालित हो रही थीं। मौजूदा वर्ष में चंडीगढ़, लखनऊ, वाराणसी, आगरा, जोधपुर, जैसलमेर, सूरत, गुवाहाटी और इंदौर के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू की गई। इसके अलावा उदयपुर, बेंगलूरू और कोलकाता के लिए फ्लाइट्स की संख्या में बढ़ोतरी हुई। फ्लाइट बढ़ने से न केवल यात्रियों को विकल्प मिले, साथ ही प्रतिस्पर्धा बढ़ने से हवाई किराए में भी राहत मिली। नए साल में जम्मू के लिए भी सीधी फ्लाइट शुरू होने की उम्मीद है।

नए साल में मिल सकती हैं येसौगात :

- 1 जनवरी से शुरू होंगी 2 नई फ्लाइट,
- जम्मू के लिए पहली फ्लाइट होगी शुरू,
- हैदराबाद के लिए शुरू होगी तीसरी फ्लाइट,
- 5 फरवरी से शुरू होगी कुआलालंपुर की फ्लाइट

इन उड़ानों की है दरकार
- जयपुर से गोवा, त्रिवेंद्रम, भुवनेश्वर, कोचीन की फ्लाइट शुरू हो,
- जयपुर से अमृतसर, पटना, भोपाल, देहरादून, श्रीनगर भी जुड़ें,
- यूरोप, ऑस्ट्रेलिया के लिए भी फ्लाइट की है दरकार
गौरतलब है कि 30 जनवरी को एयरपोर्ट के निजीकरण की बिड खोलना प्रस्तावित है। ऐसे में देखने कि बात यह होगी कि निजीकरण के बाद नए साल में हवाई यात्रियों के अनुभव को और भी बेहतर बनाने के लिए क्या प्रयास किए जाएंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×