--Advertisement--

तीन दिन का बच्चा फिर मां को मिला, कोई गांव के रास्ते में छोड़ गया

तीन दिन का बच्चा फिर मां को मिला, कोई गांव के रास्ते में छोड़ गया

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 04:33 PM IST
मां के पास पहुंचा बच्चा तो एक द मां के पास पहुंचा बच्चा तो एक द


भरतपुर। भरतपुर के राजकीय जनाना अस्पताल से दो दिन पहले चोरी गया नवजात बच्चा शनिवार को मिल गया। कोई बच्चे को शहर से करीब 15 किलोमीटर दूर रास्ते में छोड़ गया। बच्चे को छोड़ने वाले ने उसकी हिफाजत का ध्यान रखा और उसके पास एक दूध की बोतल छोड़ी तथा उसके कपड़े पर उसकी पहचान बताने वाली एक पर्ची भी छोड़ी। बच्चा दस जनवरी को पैदा हुआ था और उसी दिन अस्पताल से चोरी चला गया था। वहीं पुलिस ने बच्चा चोर लड़की को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। जानिए और इस बारे में ...

- गोवर्धन ड्रेन पर सातरुक गांव जाने वाले रास्ते पर शॉल में लिपटी कोई चीज पड़ी थी। किसी बाइक सवार की उस पर नजर पड़ी तो खेत में काम कर रहे एक किसान को बोला देख इसमें क्या है। किसान वहां आया तभी एक ऑटो वहां आकर रुका। ऑटो से एक दंपत्ती उतरा और उसने शॉल में हलचल देखी। इस पर उन्होंने शॉल हटाया तो देखा कि उसमें एक बच्चा था। उन्होंने इस बारे में पुलिस को बता दिया। थोड़ी देर में पुलिस वहां आ गई। पुलिस ने देखा कि बच्चे के स्वेटर पर सेफ्टी पिन से एक पर्ची टंगी थी। पर्ची पर लिखा था यह बच्चा जनाना अस्पताल से चोरी हुआ था कृपया इसे इसके मां-बाप को सौंप दें। बच्चे के पास ही दूध की बोतल भी थी। बोतल आधी खाली थी यानी छोड़ने वाला बच्चे को दूध पिलाकर वहां छोड़ गया था।

- पुलिस बच्चे को लेकर जनाना अस्पताल में भर्ती उसकी मां के पास पहुंची।
- बच्चे के बारे में पता लगते ही मां की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मां अपने कलेजे के टुकड़े को पाकर निहाल हो गई।

चोरनी को हिरासत में लिया

- पुलिस ने बच्चा चोरी करने वाली लड़की को हिरासत में लिया है। सीसीटीवी में चोरी की वारदात कैद हो गई थी। इसमें उस स्कूटी नंबर भी आ गया था जिससे बच्चा चोरी किया गया था। पुलिस इसी की मदद से चोर तक पहुंची।

यह है मामला
- भरतपुर के एक अस्पताल से दो लड़कियां बुधवार को एक नवजात बच्चा चोरी कर ले गईँ थीं। बच्चा चोरी की यह वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई। लड़की ने अस्पताल में भर्ती महिला से दो घंटे में दोस्ती कर ली और उसका बच्चा चोरी कर ले गई।
भरतपुर के पहाड़ी कस्बे के हैवतका गांव में तारिफ की पत्नी मनीषा (30) ने बुधवार सुबह एक लड़के को जन्म दिया। डिलीवर के बाद उसकी हालत बिगड़ गई। अत्यधिक रक्तस्राव के कारण उसकी हालत बिगड़ गई। हालत में सुधार नहीं होता देख डाक्टरों ने उसे भरतपुर रेफर कर दिया। परिजन उसे राजकीय जनाना अस्पताल लेकर पहुंचे।
- अस्पताल में मनीषा को भर्ती कर लिया गया। मनीषा के साथ उसकी सास-ससुर भी थे। सास-ससुर अस्पताल की कैंटीन में कुछ खाने-पीने गए थे।
- अस्पताल में एक लड़की ने मनीषा से जान-पहचान कर ली। मनीषा को टॉयलेट जाना था। उस अनजान लड़की ने कहा कि वह टॉयलेट लेकर चलती है। टॉयलेट जाते समय उस लड़की ने अपनी चप्पल मनीषा को पहना दी। मनीषा टॉयलेट में गई। वह जब टॉयलेट से आई तो बाहर वह लड़की नहीं थी।
- मनीषा अपने बैड पर पहुंची तो उसे अपना बच्चा नहीं मिला। इस पर उसने लोगों से पूछा तो उन्होंने बताया कि बच्चे को वह लड़की अपने साथ ले गई है। इस पर मनीषा ने हल्ला मचा दिया।
- मनीषा के हल्ला मचाने पर वहां और मरीज आ गए। थोड़ी देर में वहां डाक्टर भी आ गए।
- डाक्टरों ने सिक्योरिटी को अलर्ट किया। तब तक काफी देर हो चुकी थी और बच्चा अस्पताल के बाहर जा चुका था।

स्कूटी से ले गई
- पाकिँग वाले ने बताया कि दो लड़कियां एक नवजात को ले गईं हैं। उनकी स्कूटी पर आधे-अधूरे नंबर थे। वे बहुत जल्दी में थीं। एक लड़की करीब ढाई घंटे से वहां घूम रही थी।
- इससे पता चला कि दोनों प्लानिंग से आईं थीं और एक भीतर थी तथा उसके साथ वाली लड़की बाहर थी।
बच्चा चोरी होने की बात का पता चलते ही अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को सूचना दे दी।
पुलिस ने वहां आकर सीसीटीवी खंगाले तो बात साफ हो गई। स्कूटी से दो लड़कियां बच्चा ले जाते हुए दिख गईं। अब पुलिस दोनों की तलाश कर रही है।

सास ने पीछा किया था
- मनीषा की सास ने बताया कि उन्होंने कैंटीन से एक लड़की को उनका बच्चा ले जाते देखा। इस पर हमने उसे आवाज दी तो वह दौड़ने लगी। हमने उसका पीछा किया लेकिन जल्दी ही भीड़ में उनकी नजरों से ओझल हो गई।

आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज

फाेटो व कंटेंट : आदर्श मधुकर


X
मां के पास पहुंचा बच्चा तो एक दमां के पास पहुंचा बच्चा तो एक द
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..