Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Now RAC Passangers To Get Seperate Blanket-Sheet

रेलवे बोर्ड : अब एसी कोच में आरएसी वाले दोनों यात्रियों को मिलेगा अलग-अलग बेडरोल

रेलवे बोर्ड : अब एसी कोच में आरएसी वाले दोनों यात्रियों को मिलेगा अलग-अलग बेडरोल

Shivang Chaturvedi | Last Modified - Dec 21, 2017, 04:34 PM IST

जयपुर।रेलवे बोर्ड ने एक बार फिर सभी जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों को निर्देश जारी कर कहा है कि वे एसी कोच में सफर करने वाले आरएसी टिकटधारी यात्रियों को कंबल-चद्दर मुहैया करवाने की पालना सुनिश्चित करवाएं। देशभर में एसी चेयर कार को छोड़ सभी एसी कोच में साइड लोअर बर्थ पर दो यात्रियों को आरएसी में बैठने के लिए सीट दी जाती है।जानिए और इस बारे में ...

- सफर के दौरान बर्थ खाली होने पर आरएसी यात्रियों की बर्थ कन्फर्म की जाती है। ऐसे में एक बर्थ पर एक ही कंबल-चद्दर देने के कारण आरएसी के यात्रियों को दिक्कत होती है। इसको लेकर रेलवे बोर्ड ने 2009 में प्रावधान किया था कि प्रत्येक आरएसी यात्री को कंबल-चद्दर दी जाएगी क्योंकि इस सुविधा का भुगतान किराए के साथ लिया जाता है। इसकी पालना नहीं होने से शिकायतें बढ़ रही हैं। इसी के मद्देनजर रेलवे बोर्ड ने हाल ही फिर से आदेश जारी किए हैं।

बीमार युवती को नहीं दिया था कंबल

- गौरतलब है कि अक्टूबर में रेलकर्मियों ने अहमदाबाद-भगत की कोठी एक्सप्रेस में बीमार युवती को इसलिए बेडरोल नहीं दिया क्योंकि उसका टिकट आरएसी में था। जब उसने कोच अटेंडेंट से बेडरोल मांगा, तो अटेंडेंट ने साथ यात्रा कर रहे अनजान युवक के साथ कंबल शेयर करने को कहा। युवती ने इसकी शिकायत रेलवे के ट्विटर अकाउंट पर की। जिसके बाद ही रेलवे बोर्ड ने इस तरह की बढ़ती शिकायतों को खत्म करने के लिए पूर्व में जारी आदेशों की सख्ती से पालना करने के सभी जोनल रेलवेज को निर्देश दिए हैं।

नियम की पालना नहीं, बढ़ा दी आरएसीबर्थ

- आरएसी को बेडरोल देने के नियम की कोई पालना नहीं कर रहा। इस बीच रेलवे ने कुछ समय पहले ही स्लीपर क्लास के कोच में आरएसी बर्थ की संख्या 10 से 14, थर्ड एसी में 4 से 8 और सैकंड एसी में 4 से 6 कर दी, लेकिन बेडरोल की संख्या नहीं बढ़ाई।

आरएसी पैसेंजर को बेडरोल देने का नियम आठ साल से

- रेलवे बोर्ड ने सितंबर 2009 में नियम बनाया था, चूंकि आरएसी का यात्री भी पूरा किराया देता है और बेडरोल का शुल्क इस किराए में शामिल होता है इसलिए उन्हें बेडरोल मिलना चाहिए।

- नवंबर 2016 में एक यात्री ने बेडरोल नहीं मिलने की शिकायत की थी तो रेलवे बोर्ड ने फिर इस नियम को जारी किया था। इसमें लिखा है अटेंडेंट बेडरोल नहीं दे तो टीटीई बेडरोल उपलब्ध करवाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ab esi koch mein aaresi vaale donon yaatriyon ko milegaaa alga-alga bedarol
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×