Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Pilani Girls Band To Participate On Rajpath Parade

पिलानी बैंड की छात्राएं 59वीं बार राजपथ पर बैंड की प्रस्तुति देंगी

पिलानी बैंड की छात्राएं 59वीं बार राजपथ पर बैंड की प्रस्तुति देंगी

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 25, 2018, 04:40 PM IST

  • पिलानी बैंड की छात्राएं 59वीं बार राजपथ पर बैंड की प्रस्तुति देंगी
    परेड में हिस्सा लेतीं बालिका विद्यापीठ की गर्ल्स (फाइल फोटो)।


    पिलानी। देश के 69वें गणतंत्र दिवस समारोह में राजपथ पर होने वाली परेड में पिलानी बैंड की छात्राएं लगातार 59वीं बार प्रस्तुति देकर पिलानी व राजस्थान का गौरव बढ़ाएंगी। बिरला बालिका विद्यापीठ का प्रसिद्ध पिलानी बैंड गणतंत्र दिवस समारोह की परेड में प्रस्तुति देने के लिए जोर-शोर से तैयारियों में जुटा हुआ है। जानिए और इस बारे में ....


    - प्राचार्या डॉ. एम कस्तूरी ने बताया कि पिलानी बैंड की छात्राओं का दल दिल्ली में राजपथ पर होने वाली परेड में हमेशा की तरह अपनी दमदार उपस्थिति के लिए तैया है।

    - इसके लिए 51 छात्राओं का दल प्रभारी अधिकारी ले. सविता शर्मा व बैंड मास्टर सूबेदार मेजर राजकुमार के नेतृत्व में तैयारी में जुटा है। ये छात्राएं आर्मी कैंट के गैरीसन ग्राउंड नई दिल्ली आरडीसी कैंप में एक जनवरी से तैयारियों में जुटी हैं।
    - छात्राओं की तैयारी देखकर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, थल सेना प्रमुख बिपीन रावत सहित जलसेना, वायुसेना व एनसीसी के डायरेक्टर सहित अन्य अधिकारियों ने छात्राओं के प्रयासों की सराहना करते हुए उनकी हौसला अफजाई की।

    एक तरह से परंपरा बनी
    - राजपथ पर होने वाली परेड में इन छात्राओं का पार्टिसिपेट करना एक तरह से परंपरा सी बन गई है। बालिका विद्यापीठ की स्थापना 1941 में हुई थी। यह गर्ल्स का रेसीडेंशियल स्कूल है।
    - इस परेड में हर साल शामिल होने के कारण इस बैंड को राष्ट्रीय स्तर पर काफी ख्याति मिली है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Pilani Girls Band To Participate On Rajpath Parade
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×