--Advertisement--

न्यूज हिंदी

न्यूज हिंदी

Dainik Bhaskar

Jan 24, 2018, 11:36 AM IST
वीडियो- पद्मावत के विरोध में स वीडियो- पद्मावत के विरोध में स

नई दिल्ली. फिल्म पद्मावत के विरोध में बुधवार को राजस्थान, हरियाणा, मध्यप्रदेश, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में हिंसक प्रदर्शन हुए। इस दौरान हरियाणा के गुड़गांव में एक स्कूल बस पर प्रदर्शनकारियों ने हमला किया। बच्चों ने सीटों के पीछे छिपकर अपनी जान बचाई। कई अन्य राज्यों में आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं हुईं। गुड़गांव और चंडीगढ़ समेत हरियाणा के 4 शहरों में धारा 144 लगाई गई है। राजपूत करणी सेना के चीफ लोकेंद्र सिंह कालवी ने हिंसक प्रदर्शनों पर कहा, "जो हो रहा है, वो गलत है, लेकिन इसे रोकना अब मेरे बस की भी बात नहीं है। जौहर की ज्वाला बहुत कुछ जला देगी।" विरोध को देखते हुए मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने कहा है कि हम राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश और गोवा में फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं करेंगे। बता दें कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत 25 जनवरी को रिलीज हो रही है।

स्कूल बस पर फेंके पत्थर

- हरियाणा के गुड़गांव में जीडी गोयनका वर्ल्ड स्कूल की बस पर बुधवार को प्रदर्शनकारियों ने हमला किया। करीब 60 प्रोटेस्टर्स ने बस को घेर लिया, उनके हाथों में डंडे थे। प्रदर्शनकारियों ने ड्राइवर से बस रोकने को कहा। जब ड्राइवर ने बस नहीं रोकी तो उस पर पथराव किया गया।

- बस स्टाफर्स ने बच्चों को हमले से बचने के लिए सीटों के पीछे छिपने को कहा। ड्राइवर ने बच्चों की सेफ्टी को देखते हुए बस को रोका नहीं।

- गुड़गांव पुलिस के पीआरओ रवींदर कुमार ने कहा, "बस के शीशे टूटे हैं। डरे हुए बच्चों को मदद दी गई। शुक्र है कि किसी भी बच्चे को इस घटना में चोट नहीं आई।"

किन राज्यों में हिंसक हुआ विरोध?

1) राजस्थान

- राजपूत करणी सेना लगातार फिल्म पद्मावत पर बैन की मांग कर रही है। मंगलवार सुबह से ही चित्तौड़गढ़ किले को बंद रखा गया है। शहर में सुरक्षा काफी सख्त की गई है।
- राजपूतों ने निम्बाहेड़ा में टायल जलाकर दिल्ली-जयपुर हाईवे जाम किया। संजय लीला भंसाली के विरोध में और महारानी पदमिनी के सम्मान में नारेबाजी की।

2) हरियाणा
- गुड़गांव में फिल्म के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने भौंडसी में बस फूंक दी और पत्थरबाजी की। सोहना में स्कूल बस पर पथराव किया गया। इस दौरान बच्चों और महिलाओं ने सीटों के पीछे छिपकर जान बचाई।

- प्रदेश के कई शहरों में सिनेमा मालिक पद्मावत की स्क्रीनिंग को लेकर अब भी पशोपेश में हैं। उधर, फिल्म के विरोध में तोड़फोड़ की घटनाओं के बाद सरकार ने मॉल और मल्टीप्लेक्स को सुरक्षा मुहैया कराई है। गुड़गांव, फरीदाबाद, चंडीगढ़, पंचकूला, कुरुक्षेत्र और पलवल में कुछ जगहों पर एहतियातन धारा 144 लगाई गई है। गुड़गांव के सिनेमाहॉल और मल्टीप्लेक्स के 200 मीटर दायरे में प्रदर्शनों पर पूरी तरह से रोक है।

3) गुजरात

- अहमदाबाद में राजपूत संगठन के लोगों ने मंगलवार रात कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। तीन से चार मॉल में तोड़फोड़ और पथराव हुआ। बुधवार को यहां 44 लोगों को हिरासत में लिया गया।

- डीजीपी प्रमोद कुमार ने मंगलवार को बताया था कि पद्मावत की रिलीज को लेकर पूरे राज्य में सिक्युरिटी टाइट कर दी गई है। उन्होंने कहा कि कुछ दिनों से छिटपुट प्रदर्शन किए जा रहे हैं। लोगों ने टायर जलाकर रोड ब्लॉक किए हैं। 8 बसों को आग लगाई गई। पीएसआई की 241 और आरएएफ की 8 कंपनियां तैनात की गई हैं।

- मेहसाणा समेत नॉर्थ गुजरात के कुछ हिस्सों में सोमवार को बसों को आग में आग लगाई गई। जिसके बाद गुजरात स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन (GSRTC) ने गांधीनगर, मेहसाणा और बनासकांठा में बस सर्विस को कुछ वक्त के लिए रोक दिया था।

4) मध्यप्रदेश

- फिल्म पद्मावत के रिलीज के विरोध में मंगलवार को राजपूत समाज सहित हिन्दू संगठनों ने भोपाल कलेक्टोरेट का घेराव किया।

- दूसरी ओर रायल राजपूत संगठन के लोगों ने भी मंगलवार शाम भोपाल में ज्योति टॉकीज के बाहर प्रदर्शन किया।
- करणी सेना, राजपूत समाज, संस्कृति बचाओ मंच, हिन्दू युवा वाहिनी, बजरंग दल और ब्राह्मण समाज ने चक्काजाम के दौरान नारेबाजी भी की।

5) महाराष्ट्र

- यहां मुंबई में फिल्म को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। तोड़फोड़ की कोशिश कर रहे 30 लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

6) जम्मू-कश्मीर

- जम्मू के इंद्र सिनेमा हॉल के टिकट काउंटर पर पत्थरबाजी की गई। चश्मदीद ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि प्रदर्शनकारी पद्मावत के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे।

7) उत्तर प्रदेश

- यूपी में लखनऊ, इलाहाबाद, मथुरा, शामली, फिरोजाबाद समेत कई शहरों में करणी सेना और राजपूत संगठनों ने पद्मावती का विरोध किया। लखनऊ के एक मॉल में तोड़फोड़ की गई। वहीं एक करणी सेना के एक सपोर्टर ने आत्मदाह करने की कोशिश भी की।

क्या रिएक्शन आए?

AAP: अरविंद केजरीवाल ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट और सरकार मिलकर सुरक्षा के साथ फिल्म रिलीज नहीं करवा पा रहे हैं। ऐसे में निवेश कैसे होगा। एफडीआई को भूल जाएं। लोकल इन्वेस्टर्स भी ऐसे में कतराएंगे। ये रोजगार के लिए बुरा है।"

TMC: प. बंगाल की चीफ मिनिस्टर ममता बनर्जी ने लोगों से अपील की कि वे शांति बनाए रखें। उन्होंने कहा, "अगर पद्मावत प. बंगाल में रिलीज होती है तो मुझे खुशी होगी।"

CONGRESS: कांग्रेस लीडर रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, "हरियाणा में स्कूल बस और रोडवेज की बस पर हमला निंदनीय है। इस घटना में यात्रियों और बच्चों की जान खतरे में पड़ी। खट्टर सरकार कानून और व्यवस्था कायम करने में फेल हो गई।"

सिनेमा मालिकों ने क्या कहा?

- सिनेमा ऑर्नस एंड एक्जिबिटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (COAEI) ने होम मिनिस्ट्री ने गृह मंत्रालय को लेटर लिखा है। इसमें पद्मावत की रिलीज के दौरान थियेटर्स के बाहर पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराने की अपील की गई है। एसोसिएशन ने थियेटर्स को सलाह दी है कि वे पूरी सुरक्षा तय होने के बाद ही फिल्म रिलीज करें।

मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन का क्या स्टैंड है?
- मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने कहा कि हम गोवा, राजस्थान, मध्यप्रदेश और गुजरात में फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं करेंगे। एसोसिएशन ने कहा- लोकल मैनेजमेंट ने हमसे कहा है कि कानून-व्यवस्था की स्थिति ठीक नहीं है इसलिए हमने ये फैसला लिया है।
- बता दें कि इस एसोसिएशन से देश के 75% मल्टीप्लेक्स मालिक जुड़े हुए हैं।

सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को क्या हुआ?

- जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खनविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की बेंच के सामने पद्मावत को रिलीज से रोकने के लिए बुधवार को एक और पिटीशन दायर की गई। इस पर कोर्ट 29 जनवरी को सुनावई करेगी।

फिल्म को लेकर विवाद क्या है?

- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची।

X
वीडियो- पद्मावत के विरोध में सवीडियो- पद्मावत के विरोध में स
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..