Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Railway Makes Major Changes In Recruitment Exams

रेलवे ने किए भर्ती प्रक्रिया में कई बदलाव : पांच गुना बढ़ाया आवेदन शुल्क, एससी-एसटी का आवेदन शुल्क होगा वापिस

रेलवे ने किए भर्ती प्रक्रिया में कई बदलाव : पांच गुना बढ़ाया आवेदन शुल्क, एससी-एसटी का आवेदन शुल्क होगा वापिस

Shivang Chaturvedi | Last Modified - Feb 08, 2018, 05:10 PM IST

जयपुर। रेलवे देशभर में 26 हजार पदों को भरने जा रहा है। रेलवे ने अपनी भर्ती प्रक्रिया में कई बदलाव किए हैं। इस बार रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की भर्ती परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थियों को पांच गुना ज्यादा शुल्क देना होगा। वहीं आरआरबी द्वारा ली जाने वाली भर्ती परीक्षाओं में आवेदन के दौरान आधार नंबर अनिवार्य नहीं होगा। साथ ही ऑनलाइन आवेदन में भर्ती बोर्ड और पद के विकल्प का कॉलम खत्म कर दिया गया है। जानिए और इस बारे में ...

- आरआरबी अजमेर के अध्यक्ष आलोक मिश्रा ने बताया कि बोर्ड ने असिस्टेंट लोको पायलट (एएलपी) और टेक्नीशियन के विभिन्न पदों की भर्ती परीक्षा में आवेदन शुल्क बढ़ा दिया है।

- जनरल व ओबीसी कैटेगरी के अभ्यर्थियों को 100 रुपए की जगह अब 500 रुपए देने होंगे। वहीं एससी/एसटी के अभ्यर्थियों से भी पहली बार आरआरबी ने 250 रुपए आवेदन शुल्क मांगा है। गत शनिवार से ही ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

रेलवे ने 26502 पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगा

- अजमेर सहित देश के सभी 21 रेलवे भर्ती बोर्ड की ओर से एएलपी और टेक्नीशियन के कुल 26502 पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगा गया है। इसमें आरआरबी अजमेर द्वारा एएलपी के 799 और टेक्नीशियन के 242 पदों के लिए परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी।

आवेदन शुल्क में पांच गुना बढ़ोतरी

- यह पहला मौका है जब भर्ती बोर्ड द्वारा लिए जाने वाले आवेदन शुल्क में पांच गुना वृद्धि कर दी गई है। इसके पूर्व एएलपी की भर्ती परीक्षा के लिए 100 रुपए शुल्क लिया जाता था।

- गौरतलब है कि एससी/एसटी से जो आवेदन के समय शुल्क लिया जा रहा है, वह रेलवे द्वारा वापिस कर दिया जाएगा। यह उन्हें ही वापिस किया जाएगा, जो परीक्षा में उपस्थित होंगे। जो परीक्षा नहीं देगा, उसे शुल्क वापिस नहीं दिया जाएगा।

- आवेदन शुल्क वापिस लेने के लिए संबंधित अभ्यर्थी को रेलवे के साथ अपनी बैंक डिटेल शेयर करनी होगी। जिसके बाद उनके खातों में फीस रिफंड का पैसा आ जाएगा। इसके पूर्व एससी/एसटी अभ्यर्थियों द्वारा शुल्क लिए जाने का प्रावधान नहीं था।

- प्रतियोगी छात्र शुभम गौड़, शिशुल, गौरव शर्मा का कहना है कि अगर शुल्क बढ़ाना ही था तो 50 या अधिकतम 100 रुपए तक बढ़ा दिया जाता। एक बार में पांच गुना बढ़ाना सही नहीं है। इसके कारण कई लोग भर्ती परीक्षा में आवेदन करने से वंचित रह जाएंगे।

आधार नहीं होगा अनिवार्य

- रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) द्वारा ली जाने वाली भर्ती परीक्षाओं में आवेदन करने के दौरान अभ्यर्थियों के लिए अब आधार नंबर अनिवार्य नहीं होगा। मिश्रा ने कहा कि आधार की अनिवार्यता से जुड़ा मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है। ऐसे में भर्ती बोर्ड नहीं चाहता कि परीक्षा को लेकर किसी भी तरह का कोई कानूनी विवाद हो। इसलिए इसकी अनिवार्यता नहीं रखी गई है। मिश्रा ने बताया कि अभी आधार अनिवार्य नहीं किया जा रहा है, लेकिन आवेदन पत्र भरने के दौरान इसका कॉलम जरूर रहेगा। असिस्टेंट लोको पायलट और टेक्नीशियन की भर्ती परीक्षा के आवेदन में आधार नंबर का कॉलम रहेगा।

आरआरबी ने दिया बड़ा झटका, अब एक बोर्ड, एक पद, एक आवेदन

- आरआरबी ने अपने परीक्षार्थियों को एक बड़ा झटका दिया है। आरआरबी की ओर से इस बार ऑनलाइन आवेदन में भर्ती बोर्ड और पद के विकल्प का कॉलम खत्म कर दिया गया है। अभी तक अभ्यर्थी एक से ज्यादा भर्ती बोर्ड और समान शैक्षणिक योग्यता वाले अलग-अलग पदों के लिए आवेदन कर सकते थे, लेकिन इस बार ऐसा नहीं है। इस बार आवेदन करने के बाद एक ऑनलाइन टेस्ट लिया जाएगा। इसमें पास होने वाले अभ्यर्थियों से लगभग एक माह बाद बोर्ड और पद के विकल्प के बारे में एसएमएस या रजिस्टर्ड ई-मेल द्वारा पूछा जाएगा। दरअसल पूर्व में हुई परीक्षाओं के दौरान एक से ज्यादा बोर्ड के लिए आवेदन करने की वजह से आवेदन पत्रों की संख्या काफी हो जाती थी। फिलहाल इस बार यह व्यवस्था समाप्त किए जाने से ऑनलाइन आवेदन करने वालों की संख्या में कमी आने की संभावना है। हालांकि गुरुवार तक आरआरबी अजमेर में लगभग साढ़े तीन आवेदन आ गए थे। इस बार देशभर से लगभग 80 लाख आवेदन आने की संभावना है। वहीं परीक्षा की प्रस्तावित तिथि 8 अप्रैल से शुरू होना बताई जा रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×