Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Railway Station Category According Passenger

रेलवे अब यात्रियों की संख्या और स्टेशन महत्व के आधार पर तय करेगा स्टेशनों की श्रेणी, छोटे स्टेशनों पर बढ़ेगी यात्री सुविधाएं - v

रेलवे अब यात्रियों की संख्या और स्टेशन महत्व के आधार पर तय करेगा स्टेशनों की श्रेणी, छोटे स्टेशनों पर बढ़ेगी यात्री सुविधाएं - v

Shivang Chaturvedi | Last Modified - Dec 30, 2017, 10:38 AM IST

जयपुर.रेलवे बोर्ड अब स्टेशनों की कैटेगरी आय (रेवेन्यू) के बजाय यात्री संख्या और महत्व के आधार पर तय करेगा। इससे एक तरफ जहां यात्रियों को ज्यादा सुविधाएं मिलेगी। वहीं दूसरी तरफ उन स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं का विकास हो सकेगा। जिनका महत्व तो है, लेकिन उनकी आय तय मानकों से कम है। जानें क्या रहेगा खास...

- नई श्रेणियों के हिसाब से स्टेशनों को सबअर्बन (एस), नॉन-सबअर्बन (एनएस) और हॉल्ट स्टेशन (एच) के रूप में बांटा गया है। फिलहाल देशभर में 8,613 रेलवे स्टेशन हैं। जिनमें 5,976 नॉन-सबअर्बन, 2,153 हॉल्ट, और 484 सबअर्बन स्टेशन हैं।

- स्टेशनों का कैटेगराइजेशन 2018 से 2022 तक 5 साल के लिए किया गया है।


इन सुविधाओं का होगा विस्तार

- स्टेशनों पर दी जाने वाली सुविधाओं में फुटओवर ब्रिज (एफओबी), व्हीलचेयर के लिए ट्रॉली पाथ-वे, ऊंचे प्लेटफॉर्म, एस्केलेटर्स, लिफ्ट, डिजिटल चार्ट डिस्प्ले, एडवांस डिस्प्ले एण्ड अनाउंसमेंट सिस्टम शामिल हैं।
- गौरतलब है कि अभी देश में ऐसे कई स्टेशन हैं। जहां यात्रियों की संख्या व उनकी महत्वता तो अधिक है। लेकिन सुविधाएं कम हैं। इनमें गांधीनगर, दुर्गापुरा, जगतपुरा, सांगानेर भी शामिल हैं। अभी तक रेलवे स्टेशनों को ए-वन, ए, बी, सी, डी और एफ श्रेणियों में बांटा जाता है। इन्हें रेवेन्यू के हिसाब से कैटेगरी दी गई है।

- नियमानुसार इन कैटेगरी के हिसाब से ही स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं का विस्तार होता है। इन पर सुविधाएं विकसित करने के लिए जोनल रेलवेज को रेलवे बोर्ड द्वारा बजट दिया जाता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×