Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Rajasthan Government Should Continue MOU With RCA Till The Match Is Over

जयपुर में आइपीएल मैच हों तो राज्य सरकार मैच होने तक आरसीए का एमओयू बढ़ाए

जयपुर में आईपीएल मैच हों तो राज्य सरकार आरसीए के साथ एमओयू बढ़ाए

संजीव शर्मा | Last Modified - Jan 25, 2018, 06:19 PM IST

  • जयपुर में आइपीएल मैच हों तो राज्य सरकार मैच होने तक आरसीए का एमओयू बढ़ाए

    जयपुर। हाईकोर्ट ने आरसीए विवाद के मामले में बीसीसीआई को कहा है कि यदि जयपुर में आईपीएल के मैच हों तो राज्य सरकार आरसीए के साथ एमओयू बढ़ाए। कोर्ट ने कहा कि आईपीएल होने के बाद एमओयू को लेकर दोनों स्वतंत्र हैं। यदि बीसीसीआई मैदान को फिट पाती है तो वहां आपीएल मैच कराने के लिए स्वतंत्र है। जानिए और इस बारे में ...

    - अदालत ने कहा, बीसीसीआई से मिलने वाले फंड का उपयोग खेल और खिलाड़ियों के हित में हो। अदालत ने आरसीए को निर्देश दिया कि वह बीसीसीआई से पैसा मिलने के बाद बिजली का बकाया राशि सवा करोड़ रुपए तत्काल जमा कराए।

    - न्यायाधीश एमएन भंडारी भंडारी ने यह निर्देश जयपुर जिला क्रिकेट एसोसिएशन की याचिका पर गुरुवार को सुनवाई करते हुए दिया। सुनवाई के दौरान आरसीए की ओर से अधिवक्ता ने कहा कि उन्होंने आरसीए के अध्यक्ष और सचिव अंडरटेकिंग हस्ताक्षर सहित बीसीसीआई को भिजवा दिया है।

    - राज्य सरकार की ओर से कहा कि आरसीए का राज्य सरकार से एमओयू 27 फरवरी को खत्म हो रहा है और आरसीए पर बिजली की बकाया सवा करोड़ रुपए है। पिछले 15 साल में मैच की रेंट फीस और अन्य राशि भी बकाया है।

    - सुनवाई के दौरान बीसीसीआई ने कहा कि 27 जनवरी को बीसीसीआई की मीटिंग है और 29 जनवरी को स्टेडियम के निरीक्षण के लिए यहां टीम भेजी जाएगी।

    - कोर्ट ने कहा, मैनेजर और कोच तक को सुविधा मिलती है, लेकिन खिलाड़ियों को मूलभूत सुविधा तक नहीं मिलतीं। ऐसी सुविधाओं के मजे वो ले रहे हैं जिनका खेल से सरोकार नहीं है। इसलिए पैसे का उचित उपयोग होना चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Rajasthan Government Should Continue MOU With RCA Till The Match Is Over
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×