--Advertisement--

आईएएस की तैयारी कर रहे युवकों ने करवाई कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल

आईएएस की तैयारी कर रहे युवकों ने करवाई कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल

Dainik Bhaskar

Mar 13, 2018, 07:05 PM IST
rajasthan police constable exam one candidate arrest by sog

जयपुर. राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में हाईटेक तरीके से नकल करवाने में ऐसे युवक शामिल थे, जो कि खुद आईएएस और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे थे। वे मोटी रकम के लालच में परीक्षा शुरु होने के तीन—चार दिन पहले ही जयपुर आए थे। मंगलवार को एसओजी ने एक लाख देकर नकल करने वाले एक अभ्यर्थी को भी नागौर से गिरफ्तार कर लिया। वहीं, सोमवार को इंस्टीट्यूट के एक संचालक पार्टनर समेत गिरफ्तार छह आरोपियों को पुलिस ने आज कोर्ट में पेशकर दस दिन के रिमांड पर लिया है। जानिए क्या है पूरा मामला:

आईजी दिनेश एमएन ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी रामदेव खींचड़ है, जो कि नागौर जिले में डेगाना का रहने वाला है। नकलची गैंग के संपर्क में आने पर रामदेव ने एक लाख रुपए देकर सौदा तय किया था और पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में गिरोह की मदद से नकल की थी।

सीसीटीवी की मदद से नकलची अभ्यर्थियों को किया नामजद

रविवार रात को गैंग का पर्दाफाश होने के बाद एसओजी की पुलिस टीम ने मालवीय नगर में अपेक्स सर्किल स्थित सरस्वती इंस्टीट्यूट परीक्षा केंद्र में लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगाली। जिसमें पुलिस ने करीब 12—13 अभ्यर्थियों को चिन्हित कर ​नामजद किया था। जिन्होंने इस इंस्टीट्यूट के संचालक पार्टनर विकास मलिक, कपिल और मुख्त्यार के जरिए परीक्षा में नकल करने की एवज में मोटी रकम देना तय किया था। गिरफ्तार रामदेव भी इन्हीं में से एक है। अब शेष आरोपी अभ्यर्थियों और फरार संचालकों की तलाश की जा रही है।

45 दिन चलनी थी परीक्षा, रुपयों का लालच देकर बुलाया

गौरतलब है कि राजस्थान पुलिस ने पहली बार कांस्टेबल भर्ती के लिए पहली बार ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करवाई गई थी। इनमें जयपुर के मालवीय नगर स्थित सरस्वती इंस्टीट्यूट को भी परीक्षा केंद्र बनाया गया था। 7 मार्च से शुरु हुई यह परीक्षा 45 दिन चलनी थी। जिसमें तीन पारियों में कम्प्यूटर बेस्ड ऑनलाइन परीक्षा हो रही थी। इस पर सरस्वती इंस्टीट्यूट के तीनों पार्टनर संचालकों ने नकल करवाने की साजिश रची। स्पेशल तकनीकी एक्सपर्ट युवकों को मोटी रकम का लालच देकर जयपुर बुलाया।

किराए के गेस्ट हाउस में बनाया समानांतर परीक्षा केंद्र

इंस्टीट्यूट के नजदीक ही एक गेस्ट हाउस में किराए पर लिया। जहां उन्होंने समानांतर परीक्षा केंद्र बनाकर गैंग में शामिल नकल करवाने वाले अंकित सहरावत, अमित जाट इत्यादि को लेपटॉप देकर बैठा दिया। जानकारी के अनुसार नकल करवाने वाले आरोपी खुद भी आईएएस तथा अन्य प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है।

इस हाइटेक तरीके से करवाई अभ्यर्थियों को नकल

गैंग ने एक एंटीना इंस्टीट्यूट और होटल की छत पर राउटर लगवा दिया। इसके बाद रिमोट एक्सेस के जरिए गैंग के संपर्क में आए परीक्षा सेंटर में बैठकर अभ्यर्थियों के कम्प्यूटर सिस्टम को हैक कर लिया और फिर गेस्ट हाउस में मौजूद नकलची गैंग की मदद से परीक्षा पेपर को सॉल्व करवाया।

पुलिस हैडक्वार्टर में आईजीपी को मिली थी शिकायत

इसी बीच इसकी भनक पुलिस हैडक्वार्टर में तैनात आईजी संजीव नार्जरी को लग गई। तब उन्होंने एसओजी के एडीजी उमेश मिश्रा और आईजी दिनेश एमएन को इसकी जानकारी दी। तब एसओजी ने रविवार रात को ही सरस्वती इंस्टीट्यूट और किराए पर लिए गेस्ट हाउस पर छापा मारकर हाईप्रोफाइल नकलची गैंग का पर्दाफाश कर छह आरोपियों को ​सोमवार को गिरफ्तार कर लिया था।

X
rajasthan police constable exam one candidate arrest by sog
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..