--Advertisement--

जयपुर में कांस्टेबल भर्ती परीक्षा दे रहे अभ्यर्थी को हरियाणा में बैठकर करवाई नकल

जयपुर में कांस्टेबल भर्ती परीक्षा दे रहे अभ्यर्थी को हरियाणा में बैठकर करवाई नकल

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 07:06 PM IST
पुलिस परीक्षा नकलची गैंग के गि पुलिस परीक्षा नकलची गैंग के गि

जयपुर. राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में रिमोट एक्सेस के जरिए कम्प्यूटर स्क्रीन हैक कर ऑनलाइन नकल के मामले में परत दर परत नए खुलासे हो रहे है। इससे सबसे अहम खुलासा यह कि जयपुर के ही एक निजी स्कूल में परीक्षा केंद्र में मौजूद कुछ अभ्यर्थियों को नकलची गैंग ने सिस्टम हैक कर परीक्षा कक्ष के समानांतर एक और लैब बनाई। इसके बाद एक सॉफ्टवेयर की मदद से हरियाणा के भिवानी जिले में बैठकर गैंग से जुड़े युवकों ने परीक्षा पेपर की ऑनलाइन नकल करवाई। जानिए और इस बारे में ...
जयपुर के मालवीय नगर में सरस्वती इंस्टीट्यूट में परीक्षा पेपर नकल ​स्कैंडल का सोमवार को पर्दाफाश होने के बाद गिरफ्तार दो आरोपियों ने जयपुर के ही मुरलीपुरा में स्थित डॉल्फिन किड्स इंटरनेशनल स्कूल में नकल का खुलासा किया। इसके बाद एसओजी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए देर रात ही स्कूल में दबिश देकर तथ्य जुटाए और बुधवार को लंबी पूछताछ के बाद स्कूल संचालक और उसके भांजे व दो कर्मचारियों को गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई आईजी दिनेश एमएन और डीआईजी संजय क्षोत्रिय के निर्देशन में एएसपी करण शर्मा, पुष्पेंद्र सिंह शेखावत व ललित शर्मा के नेतृत्व में गठित एसओजी टीम ने की।


परीक्षा केंद्र पर बनाई समानांतर लैब, फिर सिस्टम हैक कर हरियाणा से नकल


आईजी दिनेश एमएन ने बताया कि पहली बार ऑनलाइन परीक्षा के लिए पुलिस मुख्यालय द्वारा अधिकृत एप्टेक कंपनी ने ही इस स्कूल को परीक्षा केंद्र के लिए चुना था। इस स्कूल में करीब 200 अभ्यर्थियों के परीक्षा देने की क्षमता है। इससे स्कूल संचालक रामनिवास जाट ने हरियाणा के प्रमोट फोगाट तथा सरस्वती इंफोटेक, मालवीय नगर के टेक्नीकल एक्सपर्ट अभिमन्यु एवं संजय के साथ मिलीभगत कर परीक्षा कक्ष के समानांतर एक अन्य कमरे में लैब बनाई।


100 कम्प्यूटर्स को एक साथ जोड़ा, फिर रिमोट एक्सेस से किया हैक


इसके बाद परीक्षा केंद्र में लगे करीब 100 कम्प्यूटर्स को वायरिंग कर नकल के लिए समानांतर बनाई गई लैब से जोड़ दिया। इस नकलची गैंग ने इन कम्प्यूटर्स को डार्क कॉम्बेक्ट सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर एक्सेस किया। इसके बाद पास वाली लैब में इंटरनेट की सहायता से गैंग से मिलीभगत करने वाले अभ्यर्थियों की स्क्रीन को भिवानी, हरियाणा में बैठकर रिमोट एक्सेस द्वारा कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के पेपर को सॉल्व करवाया।


निजी स्कूल में नकल करवाने वाले ये है गिरफ्तार आरोपी


एडीजी एसओजी उमेश मिश्रा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी राम​निवास जाट निवासी गांव आसलसर, डीडवाना नागौर है। वह डॉल्फिन किड्स स्कूल का संचालक है। दूसरा आरोपी राजू उर्फ राजेंद्र जाट निवासी दांतारामगढ़ सीकर का रहने वाला है। वह स्कूल का आईटी एक्सपर्ट है और स्कूल संचालक रामनिवास जाट का सगा भांजा है। इसके अलावा तीसरा आरोपी मुकेश कुमार निवासी नांगल कलां, गोविंदगढ़ जिला चौमूं तथा चौथा आरोपी रामरतन शर्मा निवासी गांव बरना आमेर का रहने वाला है।


दो परीक्षा केंद्रों पर कार्रवाई, दो संचालकों समेत 12 गिरफ्तार
डीआईजी संजय क्षोत्रिय ने बताया कि पिछले तीन दिनों में एसओजी ने अभी तक दो परीक्षा केंद्रों पर हाईटेक तरीके से नकल का खुलासा कर 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें एक डॉल्फिन किड्स स्कूल का संचालक रामनिवास जाट और सरस्वती इंस्टीट्यूट का संचालक पार्टनर विकास मलिक है।