--Advertisement--

पद्मावत पर सुप्रीम कोर्ट में शुरू हुई सुनवाई

पद्मावत पर सुप्रीम कोर्ट में शुरू हुई सुनवाई

Danik Bhaskar | Jan 23, 2018, 11:41 AM IST
फिल्म पद्मावत सभी राज्यों में फिल्म पद्मावत सभी राज्यों में

जयपुर. पद्मावत फिल्म पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा हटाए गए बैन पर मंगलवार को राजस्थान और मध्यप्रदेश की सरकार की याचिका को खारिज कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि इस दौरान सुप्रीम कोर्ट द्वारा सरकार को लताड़ भी लगाई गई।

- वहीं फिल्म के विरोध में राजस्थान में प्रदर्शन लगातार जारी है। सवाई माधोपुर में करणी सेना ने विरोध प्रदर्शन किया।

- सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद लोकेंद्र सिंह काल्वी का कहना है कि अब हमें किसी और से नहीं बल्कि सिनेमाहॉल के मालिकों से उम्मीद है कि वो इस फिल्म को ना लगाएं।

- गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई गई थी। जिसे खारिज कर दिया गया। अब लॉ एंड ऑडर को संभालना मैरी और मैरी टीम की जिम्मेदारी है।

सिनेमा घर पहले ही खुद को फिल्म से अलग कर चुके हैं...

- करणी सेना की सिनेमाघरों में तोड़फोड़ और जनता कर्फ्यू लगाने जैसी धमकियों के बीच फिल्म वितरकों ने इस फिल्म से खुद को अलग कर लिया है। अधिकांश सिनेमाहॉल संचालकों ने भी कहा है कि भले ही सुरक्षा दी जाए, लेकिन वे फिल्म का प्रदर्शन नहीं करेंगे। इस बीच, पद्मावत फिल्म पर बैन को खारिज करने वाले सुप्रीम कोर्ट के अंतरिम आदेश के खिलाफ राज्य सरकार की याचिका स्वीकार हो गई है। इस पर सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को सुनवाई करेगा।

फिल्म वितरकों ने लिखित में दी जानकारी


- राजस्थान में प्रमुख फिल्म वितरकों ने फिल्म वितरण से इनकार कर दिया है। मरुधर साइन एंटरटेनमेंट ने अपने एक लाइन के प्रेस रिलीज में कहा है कि फिल्म पद्मावत का वितरण नहीं करेंगे।
- यशराज जय पिक्चर्स ने भी फिल्म के वितरण से इनकार किया है। फिल्म वितरक और कंपनी के निदेशक राज बंसल ने भी राज्य में वितरण से मना कर दिया है।
- फिल्म वितरकों ने राज्य सरकार को इसकी जानकारी लिखित में दी है। राजमंदिर सिनेमा हॉल के मैनेजर अशोक तंवर का कहना है कि वे पद्मावत फिल्म को सिनेमा हॉल में नहीं लगाएंगे।
- INOX के राजस्थान यूनिट हैड अमिताभ जैन ने कहा- फिल्म की एडवांस बुकिंग चालू नहीं की है। आगे से जो निर्देश मिलेंगे उसी के अनुसार काम किया जाएगा। आईनॉक्स की राजस्थान में 12 और जयपुर में छह स्क्रीन हैं।
- श्री राजपूत करणी सेना के जिलाध्यक्ष नारायण सिंह व महासचिव महेन्द्र सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने आइनॉक्स सहित कई सिनेमा हॉल के बाहर विरोध जताया।

मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश में कई जगह प्रदर्शन


- सोमवार को भी राजस्थान और गुजरात से सटे पश्चिमी मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में करणी सेना ने राजमार्गों पर चक्काजाम किया। तोड़फोड़ भी की गई। उप्र के मथुरा में प्रदर्शन हुए।
- गौतम बुद्ध नगर जिले में रविवार को हुए प्रदर्शनों को लेकर 200 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। गोरखपुर में भी कई जगह प्रदर्शन हुए।

याचिका में राजपूत संगठन भी साथ आते तो ठीक रहता : गृहमंत्री


- गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि राज्य सरकार पद्मावत फिल्म के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में गई है। मंगलवार को इस पर सुनवाई होगी। सरकार कोर्ट से प्रदेश में बैन हटाने के आदेश को निरस्त करने के आदेश पर पुनर्विचार की मांग कर रही है। हम चाहते थे कि करणी सेना और महाराणा अरविंद सिंह मेवाड़ भी सुप्रीम कोर्ट में पार्टी बनते। इससे कोर्ट में पक्ष और मजबूत रहता।