Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Three Major Instructions Related To The Staff Issued By The Railway Board

रेलवे बोर्ड ने जारी किए कर्मचारियों से जुडे तीन बड़े निर्देश, जानें क्या रहा खास

रेलवे में ट्रेनों के ऑपरेशन एवं मेंटिनेंस से जुडे सैकडों रेलकर्मियों की ड्यूटी के दौरान दुर्घटना होने से मृत्यु हो जाती

शिवांग चतुर्वेदी | Last Modified - Feb 13, 2018, 04:20 PM IST

रेलवे बोर्ड ने जारी किए कर्मचारियों से जुडे तीन बड़े निर्देश, जानें क्या रहा खास

जयपुर. रेलवे में ट्रेनों के ऑपरेशन एवं मेंटिनेंस से जुडे सैकडों रेलकर्मियों की ड्यूटी के दौरान दुर्घटना होने से मृत्यु हो जाती है। इसे लेकर रेलवे बोर्ड से कर्मचारी संगठनों द्वारा पिछले कई दिनों से एक मांग की जा रही थी। जिसे हाल में रेलवे बोर्ड ने स्वीकार कर लिया है। जानें क्या है खास...

- एनडब्ल्यूआरईयू के महामंत्री मुकेश माथुर व उपाध्यक्ष विनीत मान ने बताया कि ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने पिछले दिनों नवंबर माह में रेलवे बोर्ड में हुई। - स्थाई वार्ता तंत्र (पीएनएम) की बैठक में प्रमुखता से यह मांग की थी, कि ऐसे कर्मचारियों जो कि ड्यूटी के दौरान अपनी जान गंवा देते हैं।

- उनको शहीदों की तरह सम्मान देना चाहिए और उसके अंतिम संस्कार में एक वरिष्ठ अधिकारी की उपस्थिति को भी अनिवार्य किया जाना चाहिए।

- जिसको मानते हुए हाल ही में रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल रेलवेज के महाप्रबंधक को यह निर्देश जारी किए हैं कि सभी महाप्रबंधक जोनल स्तर पर इसके लिए उपयुक्त निर्देश जारी कर, यह सुनिश्चित करें कि इस तरह की स्थिति में दिवंगत रेलकर्मी के सम्मान में स्थानीय स्तर पर मौजूद एक वरिष्ठ अधिकारी उसके परिवार से मुलाकात करे, कर्मचारी हित निधि (एसबीएफ) कोष से तत्काल सहायता राशि दें, पुष्प व श्रद्धांजलि अर्पित करें।

- साथ ही वेलफेयर इंस्पेक्टर (डब्ल्यूएलआई) संबंधित रेलकर्मी के आश्रित को जब तक अनुकंपा नियुक्ति नहीं मिल जाती, तब तक परिवार के संपर्क में रहें और उन्हें सहायता प्रदान करें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: relovee bord ne jaari kie karmChariyon se jude teen bdee nirdesh, jaanen kyaa raha khaas
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×