जयपुर

--Advertisement--

ग्रामीणों ने हाथ से बस को तोड़ कर निकाला फंसे यात्रियों, शवों को

ग्रामीणों ने हाथ से बस को तोड़ कर निकाला फंसे यात्रियों, शवों को

Danik Bhaskar

Dec 23, 2017, 12:14 PM IST
पानी में गिरी बस पर चढ़े ग्रामी पानी में गिरी बस पर चढ़े ग्रामी


सवाईमाधोपुर। सवाईमाधोपुर में शनिवार सुबह बस के नदी में गिर जाने से 32 लोगों की मौत हो गई। ग्रामीणों ने बहादुरी दिखाते हुए कुछ लोगों को बचा लिया। खास बात यह रही कि रेस्क्यू टीम के वहां पहुंचने से पहले ही ग्रामीणों ने अपने हाथों से बस को तोड़ कर लोगों व शवों को निकाला। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने उल्टी बस को खुद ही सीधा भी कर दिया। जानिए और इस बारे में ....

- सवाईमाधोपुर में सुबह एक बस पास के दौसा जिले के लालसोट की ओर जा रही थी। बस में असम, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश व राजस्थान के लोग सवार थे।
- बस कोटा-लालसोट मेगा हाइवे पर थी। बस बनास नदी से निकल रही थी। दूब्बी-बनास पुल से निकलने के दौरान बस ने आगे चल रहे एक ट्रोले को ओवरटेक करने की कोशिश की।
- ओवरटेक करने के दौरान ड्राइवर का बस पर नियंत्रण नहीं रहा और बस पुल की रेलिंग तोड़ती हुई नदी में गिर गई। सर्दी में सुबह हुए हादसे के समय ज्यादातर यात्री नींद में थे।

- बस करीब 100 मीटर की ऊंचाई से गिरी। ऊंचाई से गिरने के कारण बस टूट-फूट गई।

- हादसा जहां हुआ वहां कुछ किसान नदी किनारे बैठे थे। जोर का धमाका होते ही किसान सकते में आ गए। बस गिरते ही अंदर से चीख-पुकार की आवाज आई।
- इस पर किसानों ने फोन कर आस-पास के लोगों को मदद के लिए बुलाया। भरी सर्दी में ग्रामीण पानी में उतर गए।

गिरने से टूटी बस

- जहां बस गिरी वहां चार फीट ही पानी था। ऊंचाई से गिरने के कारण बस टूट चुकी थी। इससे यात्री उसमें फंस गए थे। पानी में उतरे ग्रामीण अपने हाथों से बस के शीशे व खिड़कियां तोड़ कर अंदर घुसे और फंसे व दबे यात्रियों को एक-एक कर निकाला।

- ग्रामीणों के हिम्मत दिखाने के कारण कुछ लोगों की जान बच गई।

आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज

फोटो : सुरेश योगी

Click to listen..