Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Driver To Run Train At 50 KM Per Hour In Fog

व्यवस्था फॉग है तो ड्राइवर को ट्रेन को चलाना होगा 50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से

व्यवस्था फॉग है तो ड्राइवर को ट्रेन को चलाना होगा 50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से

Aadi Dev Bharadwaj | Last Modified - Nov 29, 2017, 10:50 AM IST


जयपुर। सर्दी आते ही जयपुर रेल मंडल ने फॉग से निपटने की तैयारी पूरी कर ली है। हालांकि रेलवे की इस तैयारी से एक तरफ जहां ट्रेनों का संचालन अधिक संरक्षित व सुरक्षित बनेगा वहीं यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने में अधिक समय भी लगेगा जो उनके लिए बड़ी परेशानी का सबब बनेगा। जानिए और इस बारे में ....

- इस सीजन में दिल्ली-जयपुर-सवाईमाधोपुर मेनलाइन पर पहली बार गैंगमैन जीपीएस लेकर पेट्रोलिंग करेंगे। इससे पेट्रोलिंग करने वाले गैंगमैन की लोकेशन का पता लग जाएगा। साथ ही इससे ट्रैकमैन पर निगरानी रखी जा सकेगी।

- रेलवे कंट्रोल में बैठा अधिकारी पेट्रोलमैन ने पेट्रोलिंग की या नहीं इसका भी पता लग सकेगा। रेलवे ने फॉग को देखते हुए की जाने वाली पेट्रोलिंग के लिए पेट्रोलमैन का चार्ट तैयार कर लिया है।

- 500 से भी अधिक गैंगमैन सर्दी में पेट्रोलिंग करेंगे। गैंगमैन के पास जीपीएस ट्रैकर व अन्य उपकरण होंगे। ट्रैक में गड़बड़ी पाए जाने पर तुरंत ट्रैकमैन ट्रैक को दुरुस्त करेगा। साथ ही निकट के स्टेशन मास्टर को सूचना देगा।
- इसके बाद रेलवे कंट्रोल रूम को सूचना की जाएगी। संरक्षा को देखते हुए रेलवे ने रेल पटरी की फ्रेक्चर टेस्टिंग करवा ली है। इसमें ये भी ध्यान में रखा गया है कि पिछली बार जहां-जहां भी रेल पटरी पर फ्रेक्चर हुए हैं। वहां दो बार निरीक्षण करवाया गया है।

- ट्रैक के निरीक्षण में ट्रैक में जिस भी स्थान पर खामी पाई गई वहां रेल पटरी बदली गई है। ऐसा 8 से 10 स्थानों पर किया गया है। ट्रैक की डि-स्ट्रेचिंग ट्रैक का टेंशन रिलीज किया जा चुका है। संरक्षा से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि रेल पटरी का टेंपरेचर 15 से 20 डिग्री होने पर पेट्रोलिंग की जाती है।

फॉग में ड्राइवर 50-60 किमी प्रति घंटा रखें ट्रेन की स्पीड

- सर्दी के मौसम में कोहरा होने के कारण रेलवे ने ट्रेन ड्राइवर्स के लिए भी दिशा-निर्देश दिए हैं। फॉग होने पर ड्राइवर को ट्रेन 50 से 60 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चलाने के निर्देश दिए हैं। वहीं, यलो सिग्नल दिखने पर 30 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने को कहा गया है। ट्रेन चलाते समय यदि ट्रैक पर कोई खामी दिखे तो ट्रेन को रोककर तुरंत निकट के रेलवे स्टेशन के मास्टर को सूचित करना होगा। ट्रैक दुरुस्त होने के बाद ही ट्रेन को आगे बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

अधिकारी सुपरवाइजर करेंगे फुट प्लेटिंग

- फॉग शुरू होने पर रेलवे के मंडल अधिकारी व सुपरवाइजर नियमित रूप से फुट प्लेटिंग करेंगे। इस बारे में भी निर्देश दिए गए हैं। फुट प्लेटिंग में अधिकारी ट्रेन के इंजन में सवार होकर ड्राइवर के साथ ही ट्रैक की स्थिति को देखते हैं। यदि कहीं ट्रेन के संचालन के समय अचानक झटका लगता है तो उसके बारे में सूचना देकर ट्रैक को तुरंत दिखवाया जाता है ताकि किसी प्रकार की अनहोनी नहीं हो।


फॉग से निपटने की तैयारी पूरी कर ली गई है
- रेल मंडल में सर्दी के मौसम में होने वाले फॉग से निपटने की तैयारी पूरी कर ली गई है। पेट्रोल मैन चार्ट तैयार किया जा चुका है। पेट्रोल मैन रात 11 से सुबह 7 बजे तक जीपीएस लेकर पेट्रोलिंग करेंगे। ड्राइवरों को भी स्पीड को लेकर निर्देश जारी किए जा रहे हैं।

- कमल जोशी, सीनियर पीआरओ, जयपुर


दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: relovee ki kohare se niptne ki taiyaari, foga mein tren ki speed hogai 50 kimi prti ghntaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×