--Advertisement--

खाड़ी देशों से कम हो जाएगी जयपुर की एयर कनेक्टिविटी, आबूधाबी से डिस्कनेक्ट होगा जयपुर

खाड़ी देशों से कम हो जाएगी जयपुर की एयर कनेक्टिविटी, आबूधाबी से डिस्कनेक्ट होगा जयपुर

Danik Bhaskar | Nov 22, 2017, 12:57 PM IST

जयपुर। लगातार बढ़ती फ्लाइट्स के बीच जयपुर एयरपोर्ट को एक बड़ा झटका लगने जा रहा है। यूरोप और यूएस के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट पकड़ने का सबसे बढ़िया डेस्टिनेशन अब बंद होने जा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि जयपुर से आबूधाबी के लिए चलने वाली एकमात्र फ्लाइट आगामी एक मार्च से उड़ान नहीं भरेगी। जानिए

क्यों बंद हो रही है उड़ान ....

- दरअसल पिछले साल अक्टूबर से अब तक वैसे तो जयपुर से इंटरनेशनल एयर कनेक्टिविटी लगातार बढ़ती जा रही है। पिछले साल अक्टूबर में सिंगापुर, फिर नवंबर में बैंकॉक की फ्लाइट शुरू हुई थी। इसके बाद 29 अक्टूबर से बैंकॉक की एक और फ्लाइट संचालित की जा रही है, लेकिन ऐसा पहली बार हो रहा है जब किसी खाड़ी देश से कनेक्टिविटी जुड़ने के बाद यह बंद होने जा रही हो।

- दरअसल जयपुर पर्यटन के लिहाज से विश्व में अपनी अलग पहचान रखता है। इसी वजह से न केवल भारत की एयरलाइंस, बल्कि विदेशी एयरलाइंस भी यहां से एयर कनेक्टिविटी बढ़ाने पर लगातार जोर दे रही हैं। आगामी पांच फरवरी से जयपुर से कुआलालंपुर के लिए फ्लाइट शुरू होने जा रही है। दरअसल अभी जयपुर एयरपोर्ट से 6 विदेशी शहरों के लिए कुल 8 इंटरनेशनल फ्लाइट संचालित हो रही हैं, लेकिन अगले साल फरवरी में जहां एक नया डेस्टिनेशन कुआलालंपुर जुड़ेगा वहीं दूसरा इंटरनेशनल डेस्टिनेशन आबूधाबी बंद हो जाएगा।

आबूधाबी से कनेक्शन, इसलिए खास

- 1 अप्रैल 2014 को शुरू हुई थी आबूधाबी की फ्लाइट
- पहले रोजाना (सप्ताह में सातों दिन) चलती थी यह फ्लाइट
- पैसेंजर लोड कम हुआ तो सप्ताह में 5 दिन चलने लगी
- फिलहाल सप्ताह में चार दिन चल रही आबूधाबी के लिए
- जनवरी 2018 से सप्ताह में 3 दिन चलेगी
- 28 फरवरी 2018 होगा संचालन का अंतिम दिन
- एतिहाद की यह फ्लाइट शुरू हुई थी गेटवे के तौर पर

यूरोप और यूएस के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट्स का गेटवे
- एक ओर जहां आबूधाबी की फ्लाइट का संचालन पूरी तरह से बंद होने जा रहा है। वहीं दूसरी ओर मस्कट के लिए ओमान एयर की फ्लाइट के संचालन दिन भी कम हो चुके हैं। दरअसल 2015 में ओमान एयर ने मस्कट के लिए दो फ्लाइट शुरू की थीं। इनमें एक फ्लाइट रोजाना, जबकि दूसरी फ्लाइट सप्ताह में 3 दिन संचालित हो रही थी, लेकिन यात्रीभार की कमी के चलते एयरलाइन को दूसरी फ्लाइट बंद करनी पड़ी।

- इससे पहले सिंगापुर के लिए शुरू हुई स्कूट एयरलाइन को भी अपने बड़े विमान के बजाय छोटा विमान चलाना पड़ा था। यात्रीभार की कमी से इंटरनेशनल डेस्टिनेशंस के लिए जयपुर से फ्लाइट सफलतापूर्वक संचालित नहीं हो पा रही हैं।

इंटरनेशनल डेस्टिनेशन, इसलिए नहीं फिजिबल
- एतिहाद एयरवेज को कम मिल रहा है यात्रीभार,
- 180 सीट क्षमता का विमान चलाती है एयरलाइन,
- लेकिन केवल 100 से 120 यात्री मिल पा रहे,
- बीच में एयरलाइन ने 115 क्षमता का विमान चलाया,
- एयरबस 320 के बजाय एयरबस 319 किया संचालित,
- लेकिन फिर भी लोड कम मिला तो बंद कर रही संचालन,
- स्कूट एयरलाइन ने अक्टूबर 2016 में चलाया था बड़ा विमान,
- सिंगापुर के लिए शुरू किया था बोइंग 787 ड्रीमलाइनर विमान,
- 337 सीट के लिए मिल रहे थे 120 से 180 यात्री,
- मार्च 2017 में एयरलाइन ने बदल दिया छोटा विमान,
- अब सिंगापुर के लिए चल रहा 180 सीटर एयरबस 320

- आबूधाबी की यह फ्लाइट 3 साल 10 महीने चलने के बाद बंद हो जाएगी। एक तरफ जहां नई एयरलाइंस अच्छे यात्रीभार की उम्मीद में और जयपुर की विश्व मानचित्र पर अलग छवि को देखते हुए फ्लाइट शुरू कर रही हैं वहीं मौजूदा हालात में यात्रीभार कम होने के कारण कुछ एयरलाइंस कंपनियों को अपने कदम वापिस खींचने पड़ रहे हैं।