Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Low Floor Bus Driver-Conductor Strike Continues

300 लो-फ्लोर बसों का पांचवे दिन भी संचालन नहीं, जेसीटीएसएल के कर्मचारियों ने भी हड़ताल की चेतावनी दी

300 लो-फ्लोर बसों का पांचवे दिन भी संचालन नहीं, जेसीटीएसएल के कर्मचारियों ने भी हड़ताल की चेतावनी दी

Aadi Dev Bharadwaj | Last Modified - Nov 05, 2017, 12:47 PM IST


जयपुर। लोफ्लोर बसों के कंडक्टर-ड्राइवरों की हड़ताल के चलते शहर में रविवार को पांचवे दिन भी करीब 300 लो-फ्लोर बसों का संचालन बंद रहा। सरकार की और से जेसीटीएसएल को भुगतान नहीं होने पर कर्मचारियों को वेतन-बोनस का भुगतान नहीं हो पाया। अपनी मांगों के समर्थन में हड़ताल पर गए कर्मचारी जेसीटीएसएल की बसों का संचालन करने वाली मातेश्वरी हरीश ट्रांसपोर्ट कंपनी के हैं। जेसीटीएसएल प्रशासन ने हड़ताली कर्मचारियों से शनिवार को भी वार्ता नहीं की। जानिए और इस बारे में ...

- शहर में 400 लो फ्लोर बसों का संचालन होता है। बसें नहीं चलने से शहर में यात्रियों को परेशानी हो रही है। इधर, जेसीटीएसएल के कर्मचारियों ने सितंबर का वेतन भुगतान नहीं मिलने पर हड़ताल की चेतावनी दी है।
- जेसीटीएसएल के बेड़े में 450 से अधिक लो-फ्लोर बसें हैं। इन बसों में से जेसीटीएसएल के पास सवा सौ बसों का संचालन है। बाकी बसों का संचालन प्राइवेट कंपनी के पास है।
- एमडी जेसीटीएसएल आकांक्षा चौधरी ने कहा, बसों के संचालन के लिए हड़ताल पर गए कंपनी और उनके कर्मचारियों से वार्ता कर समस्या का समाधान करने के प्रयास जारी हैं। अन्य जिलों से ड्राइवर-कंडक्टरों को बुलाकर बसों के संचालन शुरू किया है।
- मातेश्वरी हरीश ट्रांसपोर्ट कंपनी में कार्यरत कर्मचारी यूनियन के प्रेसीडेंट कैलाश गुर्जर का कहना है कि कर्मचारियों की मांगे माने जाने तक हड़ताल जारी रहेगी। हड़ताल करने से पहले जेसीटीएसएल कंपनियों को वेतन भुगतान करने के लिए कई बार कहा गया, लेकिन कर्मचारियों और उनके परिवारों की परवाह नहीं की गई।
ये हैं 11 सूत्री मांगें
1. वेतन साढ़े दस हजार से बढ़ाकर साढे सत्रह हजार रुपए किया जाए। प्रतिमाह वेतन की शिल्प मिले।
2. महीने में होने वाली दो छुट्टियों के बजाए चार छुट्टियां की जाएं।
3. रात्री भत्ता 70 रुपए से बढ़ाकर 100 रुपए किए जाए।
4. डीजल के एवरेज में वेतन से कटौती नहीं की जाए।
5. यात्रियों व अन्य लोगों की शिकायत की जांच के बाद कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाए।
6. ओवरटाइम का वेतन दोगुना दिया जाए।
7. बसों के निर्धारित परिचक्र के समय को बढ़ाया जाए। इसी अवधी 25 मिनट से ज्यादा करें।
8. मौसम के अनुसार वर्दी देवे। उसके रुपए डाइवर के वेतन से नहीं काटे।
9. ड्राइवरों व कंडक्टरों को आई कार्ड दिए जाए।
10. डिफेक्ट लिखे गए वाहनों को सुधारने के बाद ही संचालित किया जाए।
11. दुर्घटना होने पर जांच के बाद ही दोषी पाए जाने पर ड्राइवर पर कार्रवाई की जाए।
आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×