--Advertisement--

मौत से पहले ली थी सेल्फी, फिर किले की दीवार पर फंदे से लटका मिला

मौत से पहले ली थी सेल्फी, फिर किले की दीवार पर फंदे से लटका मिला

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 11:25 AM IST
चेतन जयपुर के नाहरी नाका स्थित चेतन जयपुर के नाहरी नाका स्थित

जयपुर. नाहरगढ़ फोर्ट पर शुक्रवार सुबह 40 साल के चेतन सैनी की लाश लटकी मिली थी। पास में ही पत्थरों पर लिखा मिला था कि पद्मावती का विरोध करने वालों हम सिर्फ पुतले नहीं जलाते हैं। इसके बाद इसे पद्मावती विवाद से जोड़कर देखा जाने लगा था। अब इस केस में नए खुलासे हो रहे हैं। उसके मोबाइल से पता चला है कि फांसी लगाने के पहले चेतन ने किले पर करीब पांच सेल्फी भी ली थी। इसके अलावा 8 से 10 लाख रुपए कर्ज की बात भी सामने आ रही है। उधर, परिवार का कहना है कि पत्थरों पर लिखी राइटिंग उसकी नहीं है।

क्या है ये मामला?

- चेतन की लाश शुक्रवार को नाहरगढ़ के किले पर लटकी मिली थी। घटनास्थल के पास करीब 20-22 पत्थरों पर कोयले से पद्मावती फिल्म से जुड़े विवादित बयान लिखे हुए थे।

क्या लिखा था पत्थरों पर?

- घटनास्थल के आसपास पत्थरों पर विवादित मैसेज लिखे मिले।

1. पद्मावती का विरोध करने वालों हम सिर्फ पुतले नहीं लटकाते हैं।

2. हम किले पर सिर्फ पुतले नहीं टांगते।

3. लुटेरे नहीं, अल्लाह के बंदे हैं, एक-एक दस पर भारी है।

4. चेतन तांत्रिक मारा गया।

5. ये तो सिर्फ एक झांकी है, शुरुआत अभी बाकी है।

- माना जा रहा है कि आरोपियों ने पद्मावती को इश्यू बनाकर पुलिस को भटकाने और मामले को सांप्रदायिक रंग देने का प्रयास किया।

कौन था चेतन

- चेतन जयपुर के नाहरी नाका स्थित ज्ञान मार्ग पंचमुखी कॉलोनी मे रहता था। वह आर्टिफिशियल ज्वैलरी का काम करता था।

- चेतन के परिवार में वाइफ, एक बेटा (9) और एक बेटी (13) है।

अब इस मामले में 5 बातें सामने आ रही हैं

1. पुलिस को चेतन का मोबाइल मिला। इसमें 5 सेल्फी मिलीं। ये उसकी मौत के पहले की हो सकती हैं, क्योंकि ये ठीक उसी जगह की हैं, जहां उसकी लाश लटकी मिली। मोबाइल की लोकेशन ट्रेस करने पर पुलिस को पता चला कि शाम साढ़े पांच बजे से चेतन नाहरगढ़ पर ही था।

2. वहीं, उसके परिवार का कहना है कि पत्थरों पर जो भी लिखा गया है, वो चेतन ने नहीं लिखा है, क्योंकि ये चेतन की हैंडराइटिंग नहीं है।

3. उसकी वाइफ नीतू ने गुरुवार देर रात से शुक्रवार सुबह तक करीब 56 बार फोन किए थे। उसके फोन से यह बात पता चली।

4. ऐसा भी कहा जा रहा है कि उस पर करीब 10 लाख रुपए का कर्ज था। घटना वाले दिन उसकी पत्नी को एक कर्जदार का भी फोन आया था।

5. चेतन गुरुवार को करीब 3.30 बजे बच्चों को स्कूल से घर छोड़कर बाजार गया था। इसके बाद उसने वाइफ को शाम 5 बजे फोन कर कहा था कि वो रात 9 बजे तक घर आएगा। खाना बना देना। जब वह घर नहीं आया तो नीतू ने कई बार फोन किए, लेकिन कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला।

हत्या है या आत्महत्या? कई सवाल


आत्महत्या है तो कोयले से हाथ काले क्यों नहीं?
- पत्थरों पर विवादित बयान कोयले से लिखे हैं। चेतन की उंगलियों या हाथों पर कोयले के निशान नहीं हैं।
- जिस रस्सी से चेतन का शव लटकता पाया गया है, वह बड़ी और मोटी है। ऐसी रस्सी पर खुद गांठ लगाकर फंदे से लटकना आसान नहीं है।
- चेतन ने शाम 5:30 बजे सेल्फी ली थी। पत्नी को फोन कर कहा था कि रात 9 बजे तक घर आ जाऊंगा, खाना बना लेना।

लेन-देन का विवाद, इसलिए हत्या की आशंका
- चेतन का कारोबार के सिलसिले में कुछ लोगों से लेन-देन विवाद था। पुलिस के मुताबिक, वह हाल ही किसी से पैसे लेने सीकर भी गया था। पुलिस भी प्रथम दृष्ट्या हत्या की आशंका जता रही है।
- जिस रस्सी से शव लटक रहा था, वह बिल्कुल नई थी। उसके चेहरे पर हल्के चोट के निशान थे।
- चेतन दोपहर 3:30 बजे घर से निकला था। मोबाइल लोकेशन 3:50 पर चांदपोल एरिया की। इसके बाद 5:20 से नाहरगढ़ की।