--Advertisement--

प्रदेश के पुलिसकर्मियों में है नशे की लत, 261 पर किए गए सर्वे में सामने आए चौकाने वाले आंकड़े

प्रदेश के पुलिसकर्मियों में है नशे की लत, 261 पर किए गए सर्वे में सामने आए चौकाने वाले आंकड़े

Dainik Bhaskar

Nov 24, 2017, 06:01 PM IST
Police man survey i rajasthan university

जयपुर. प्रदेश के पुलिस कर्मियों के साथ ऑफिसर्स रैंक तक में नशा पसरा हुआ है, जिसे वे स्वीकार भी करते हैं। शुरुआत में उन्होंने 24 घंटे की ड्यूटी का स्ट्रेस दूर करने के लिए नशा अपनाया और अब वह उनकी जरूरत बन गया है। हालात यह है, कि अब वे नशे को छोड़ना नहीं चाहते हैं। उनको समझाने वाला कोई नहीं है। यह रिसर्च बेस्ड तथ्य राजस्थान यूनिवर्सिटी के होम साइंस डिपार्टमेंट की ओर से हुई दो दिवसीय वर्कशॉप में रखे गए। जाने पूरा मामला...


राजस्थान के एक शहर में 10 थानों के 261 से ज्यादा पुलिस कर्मियों और ऑफिसर्स पर रिसर्च करने वाले अजमेर के आशीष ने बताया, पुलिस वाले सोचते हैं अब नशे के बिना काम नहीं चल सकता है। वे एल्कोहल के साथ-साथ अन्य हल्के नशे करते हैं। जब क्वेश्चन एयर में सवालों के जवाब उनसे पूछे गए तो उन्होंने खुलकर नशे से स्ट्रेस दूर करने की बात स्वीकारी। वहीं अन्य एक्सपर्ट ने स्ट्रेस पर बात करते हुए कहा, आज देश में हर चौथा व्यक्ति किसी न किसी स्ट्रेस से गुजर रहा है। ऐसे में सवा सौ करोड़ लोगों में से 25 प्रतिशत लोगों में स्ट्रेस है। इसमें 80 प्रतिशत स्ट्रेस लेवल वाले लोग भी शामिल हैं।

5 प्रतिशत नमक काफी, खाते हैं 14 प्रतिशत से ज्यादा


अभी तक हम ऑयल या घी को ही हार्ट प्रॉब्लम्स के लिए जिम्मेदार मानते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। नमक भी उतना ही हार्मफुल है, जितना अन्य चीजें। सोनल ने रिसर्च में बताया, एक दिन में 5 प्रतिशत तक नमक हमारे शरीर के लिए काफी है, लेकिन हम एक दिन में 14 प्रतिशत से ज्यादा नमक यूज करते हैं, जो तीन टाइम से ज्यादा है। इससे हार्ट प्रॉब्लम्स बढ़ रही हैं। यह रिसर्च प्रदेश के लोगों पर की गई, जिसमें चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए।

सर्जरी के बाद स्वयं की गलतियों से होती है प्रॉब्लम रिपिट


कार्डियक सर्जरी के बाद कुछ समय में ही पेशेंट को लगता है, कि वह नॉर्मल हो गया है और डाइट व रूटीन को फॉलो नहीं करता है। इससे प्रॉब्लम रिपिट होने का खतरा बढ़ जाता है। पेशेंट स्ट्रेस लेने लगता है, जबकि उसे सैकंडरी ट्रीटमेंट देना जरूरी होता है। इसकी ओर कोई ध्यान नहीं देता है। न्यूट्रीशियनिस्ट डा. अंजलि फाटक ने बताया, हमने सर्जरी के बाद कैसा हो आपका आहार और जीवन शैली सब्जेक्ट पर बुक डवलप की और एक्सपेरिमेंटल पेशेंट को दिया। उसमें जीरो डे से लेकर मुख्य रूटीन आने तक के बारे में सबकुछ बताया।

X
Police man survey i rajasthan university
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..