Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Rajasthani Products Displayed In Hunar Haat

दिल्ली के हुनर हाट में राजस्थानी शिल्पियों के उत्पाद आकर्षण का केंद्र

दिल्ली के हुनर हाट में राजस्थानी शिल्पियों के उत्पाद आकर्षण का केंद्र

Aadi Dev Bharadwaj | Last Modified - Nov 16, 2017, 01:22 PM IST


(आरिफ कुरैशी) अजमेर। अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय की ओर प्रगति मैदान में चल रहे हुनर हाट में राजस्थान के अल्पसंख्यकों के उत्पाद भी लोगों का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं। राजस्थान का गोटा पट्टी काम समेत विभिन्न प्रोडक्ट को पसंद किया जा रहा है। जानिए और इस बारे में ....


- इस मेले में राजस्थान के एक दर्जन कारीगर और शिल्पी भाग ले रहे हैं। दिल्ली के बाद राजस्थान से सबसे अधिक कारीगर व शिल्पी भाग ले रहे हैं। मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक हुनर हाट में आंध्रप्रदेश (2), असम (2), बिहार (4), दिल्ली (24), गुजरात (11), जम्मू और कश्मीर (9), झारखंड (1), कर्नाटक (4), मध्य प्रदेश (5), मणिपुर (1), मिजोरम (1), नागालैंड (4), पुड्डूचेरी (3), पंजाब (2), राजस्थान (12), तमिलनाडु (1), तेलंगाना (2), उत्तर प्रदेश (37), उत्तराखंड (1) और पश्चिम बंगाल (4) के कारीगर और शिल्पी भाग ले रहे हैं।

उत्कृष्ट नमूने हो रहे हैं पेश

- हुनर हाट में कारीगर हस्तशिल्प और हथकरघा के अनेक उत्कृष्ट नमूने लेकर पहुुंचे हैं। इनमें राजस्थान और तेलंगाना के परम्परागत आभूषण, लाख की चूड़ियां, असम के केन और बांस और जूट के उत्पाद, टसर, गीजा, भागलपुर का मटका सिल्क, पश्चिम बंगाल के कान्था उत्पाद, वाराणसी के ब्रोकेड, लखनवी चिकन, उत्तर प्रदेश की जरी जरदोज़ी, खुर्जा के चीनी मिट्टी के उत्पाद, पूर्वोत्तर के मिट्टी के सामान, ब्लैकस्टोन पोट्री, सूखे फूल और परम्परागत हस्तशिल्प वस्तुएं, कश्मीर के शॉल, कारपेट और पेपर मेशी, गुजरात के अजरख प्रिंट, मुटवा, कच्छ की कढ़ाई और बंधेज, मध्यप्रदेश के बाटिक, बाघ, महेश्वरी, बाड़मेर के अजरख और एप्लीक, मुरादाबाद के चमड़े के उत्पाद, पीतल का सामान; तेलंगाना की कलमकारी शामिल हैं।

- नए उत्पादों में पुड्डूचेरी और उत्तरप्रदेश के कारीगरों द्वारा प्राकृतिक घास से तैयार टोकरियां, राजस्थान का गोटा पट्टी काम, गुजरात की म्यूराल पेटिंग्स और बंदेज शामिल हैं। हुनर हाट 27 नवम्बर तक चलेगा। एक दिन पूर्व ही केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलात मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इस हुनर हाट का शुभारंभी किया।

फोटो : आरिफ कुरैशी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×