Hindi News »Rajasthan News »Jaipur News» Who-Is-Alphons-Kannanthanam In Hindi News Story

प्रिंसिपल ने कहा था 10वीं भी पास नहीं कर पाएगा आपका बच्चा, ऐसे बना IAS टॉपर

प्रिंसिपल ने कहा था 10वीं भी पास नहीं कर पाएगा आपका बच्चा, ऐसे बना IAS टॉपर

Meenakshi Rathore | Last Modified - Nov 06, 2017, 12:36 PM IST

जयपुर। केंद्रीय पर्यटन मंत्री अल्फोंस कन्नथानम ने सोमवार को राज्यसभा चुनाव के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। अल्फोंस को भाजपा ने राजस्थान से राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया है। वेंकैया नायडू के उपराष्ट्रपति बनने पर रिक्त हुई सीट पर उनका निर्वाचन तय है। अल्फोंस कन्ननथाम वर्तमान में किसी सदन के सदस्य नहीं है। अल्फोंस के निजी जीवन के बारे में बहुत ही कम लोग जानते है। इसके चलते हम आपको उनके अभी तक की लाइफ के बारे में बात रहे हैं। प्रिंसिपल ने कहा था 10वीं में पास नहीं हो पाएगा आपका बच्चा…

- अल्फोंस कन्ननधनम का जन्म अगस्त 1953 को केरल के मणिमाला गांव में हुआ। अल्फोंस के गांव में बिजली नहीं थी। जब अल्फोंस का जन्म हो तब वें 9 भाई-बहन थे, जो बाद में अल्फोंस के पिता द्वारा दो और बच्चे गोद लेने के बाद 11 हो गए।
- अल्फोंस ने एक इंटरव्यू में कहा था कि जब वें 10वीं क्लास में पढ़ते थे तो उनके पेरेंट्स को प्रिंसिपल ने स्कूल में बुलाया था और कहा था आपका बच्चा इस एग्जाम में पास नहीं हो सकता। बस मेरी जिंदगी का ये ही टर्निंग पोइंट था। इसके बाद मैंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। बात को आगे बढ़ाते हुए अल्फोंस ने कहा कि मैं अपनी क्लास का सबसे बुधु बच्चा था। स्कूल में मुझे कभी किसी भी एक्टिविटी के लिए प्राइज नहीं मिला।
एेसे टॉप किया आईएएस का एग्जाम
- स्कूल लाइफ के बाद से ही अल्फोंस ने पढ़ाई में खूब मेहनत की और अाईएएस एग्जाम टॉप किया। अल्फोंस 1979 बैच के केरल कैडर के एक प्रतिष्ठित आईएएस अधिकारी हैं।
- कन्नथनम जब 1989 में कोट्टायम के कलक्टर थे, उसी वक्त कोट्टायम देश का पहला पूर्ण साक्षर जिला बना था।
ऐसे पड़ा डिमोलिशन मैन नाम
- दिल्ली विकास प्राधिकरण के आयुक्त रहते हुए उन्होंने अवैध इमारतों के खिलाफ एक बड़ा अभियान छेड़ा था, जिसका चलते अल्फोंस कन्ननधनम डिमोलिशन मैन के नाम से मशहूर हो गए थे।
- इस दौरान उन्होंने डीडीए क्षेत्र में बनी लगभग 15,000 गैरकानूनी इमारतों को हटा दिया था।
- 1994 में टाइम मैग्जीन ने इन्हें युवा वैश्विक हस्तियों की सूची में शामिल किया था।
- वे एक तमिल मैगजीन के 100 ग्लोबल लीडर की सूची में भी शामिल रहे हैं।
ऐसे आए राजनीती में

- कन्नथनम ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत बीजेपी से बिल्कुल अलग राजनीतिक विचारधारा के साथ की थी।
- अल्फोंस ने 2006 में नौकरी से इस्तीफा देकर वामदल समर्थक निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में केरल से विधानसभा चुनाव लड़ा था।
- वह न केवल चुनाव जीते, बल्कि कोट्टायम जिले के कांजीरापल्ली विधानसभा क्षेत्र के एक प्रभावशाली विधायक बन गए।
- जब उनका फिर से चुनाव लड़ना तय माना जा रहा था, तभी वह केरल की राजनीति छोड़कर दिल्ली आ गए और बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य हो गए। तब से वह केरल में विधानसभा और लोकसभा चुनावों के दौरान बीजेपी के लिए सक्रिय रहे हैं। आईएएस के रूप में रिटायरमेंट के बाद वे वकालत भी कर रहे हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज....
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×